कसौटी ज़िन्दगी की 11 सितंबर 2020 रिटेन अपडेट : प्रेरणा को अनुराग की सच्चाई पता चली!

    कसौटी जिंदगी की रिटेन अपडेट, स्पॉइलर, अपकमिंग स्टोरी, लेटेस्ट न्यूज, गॉसिप एंड अपकमिंग एपिसोड

    एपिसोड की शुरुआत मे प्रेरणा सोचती है कि उसे समिधा के लिए किसी भी तरह अनाथालय को बचाना है। वह समिधा को याद करती है, जबकि वह उसके पास आ रही होती है। वो भी वाहनों की परवाह किए बिना प्रेरणा से मिलती है। प्रेरणा उसे इसके लिए डांटती है और समिधा उसे माता रानी चुनरी के रूप मे रुमाल देती है जो कि उसकी शुभकामनायें है।

    प्रेरणा उसे किसी भी कारण से अपनी जान को खतरे में नहीं डालने का वादा करने के लिए कहती है और समिधा सहमत हो जाती है। प्रेरणा सोचती है कि वह समिधा के लिए कुछ भी करेगी। प्रेरणा कोमोलिका पर जाँच करने जाती है और कोमोलिका को निवेदिता को कागजात देती हुई पाती है। निवेदिता ने उसे चेतावनी दी कि अगर अनुराग को इस बारे में पता चला तो वह उससे बहुत नाराज होने वाला है।

    कोमोलिका कहती है कि अनुराग उसके साथ कुछ भी नहीं कर सकता है और भले ही वह जान जाए पर वह उसे प्रबंधित करना जानती है। वह प्रेरणा से शेयर मिलने पर गर्व महसूस कर रही है। प्रेरणा ने याद किया की अनुराग ने कहा था कि क्या वह सोचती है कि वह मासूम बच्चों के जीवन के साथ खेल सकता है। वह वहां से चली जाती है। कोमोलिका प्रेरणा को पेपर देती है और प्रेरणा उसे चेक करती है। कोमोलिका ने उसे भावनात्मक मूर्ख बनाने के लिए ताना मारा।

    प्रेरणा का कहना है कि पैसो के अलावा दुनिया में कई महत्वपूर्ण बातें हैं, लेकिन वह यह नहीं समझ पाएगी। वह कागजात पर हस्ताक्षर करती है लेकिन उसे अनाथालय के कागजात देने से पहले उसे देने से इनकार करती है। कोमोलिका ने निवेदिता को अनाथालय के कागजात प्राप्त करने के लिए यह कहते हुए भेजा कि वह उसके बारे में अच्छी तरह जानती है।

    कोमोलिका, मोहिनी को प्रेरणा के लिए चाय लाने के लिए भेजती है और वह ब्लैक कॉफी ऑर्डर करती है। प्रेरणा और कोमोलिका ने एक दूसरे को ताना मारा। कमोलिका का कहना है कि उसे उसके पति को गले और किस्स नहीं करना चाहिए क्योंकि उसी कि वजह से उसने ये बदला लिया। प्रेरणा उसके साथ साफ़ करती है कि उसे उसके पति में कोई दिलचस्पी नहीं है और न ही वह स्थिति दोहराएगी।

    निवेदिता, प्रेरणा को अनाथालय के कागजात देती है और वह उसकी जाँच करती है। प्रेरणा ने कोमलिका को धमकी दी कि अगर वह एक बार फिर से अनाथालय के बच्चों को परेशान करती है तो वह उसे बर्बाद कर देगी। कोमोलिका कहती है कि वह अभी भी वही है जो बड़ी चुनौती देती है लेकिन कुछ नहीं करती है। वह याद करती है कि उसने कहा था कि अनुराग के नाम का सिंदूर उसका है, लेकिन अब अनुराग और सिंदूर दोनों उसके हैं।

    प्रेरणा कहती है कि वह अब ऐसा नहीं चाहती है। इतना कहकर वह चली गई। अनुराग को अपने कार्यालय से मीटिंग के लिये फोन आता है और अनुराग कहता है कि वह गारमेंट का दौरा कर रहा है। और कहता है कि निवेदिता बैठक में शामिल होंगी। अनुराग अपनी कार पार्क करने वाला होता है जब दूसरी कार उसके रास्ते में बाधा डालती है। वह बजाज की कार है और वह नीचे उतरता है। वे दोनों पार्किंग पर बहस करते हैं लेकिन अप्रत्यक्ष रूप से प्रेरणा पर बहस चल रही होती है।

    बजाज बाद में समझता है कि अनुराग का मतलब प्रेरणा था और पार्किंग नहीं। प्रेरणा को आश्चर्य होता है कि अगर उसे सौदे के बारे में पता नहीं था तो अनुराग ने उसकी जान क्यों बचाई। वह उसके साथ इसे साफ करने का फैसला करती है। अनुराग अपनी प्रस्तुति के दौरान प्रेरणा को याद करता है।

    प्रीकैप : प्रियंका की मां प्रेरणा को देखती है और भाग्य के खेल का एहसास किया। वह उसके सामने सच्चाई प्रकट करने वाली है।