अनुपमा 11 नवंबर 2023 रिटेन अपडेट: अनुज और अनुपमा बने राम और सीता, मालती देवी ने…

अनुपमा रिटेन अपडेट, स्पॉइलर, अपकमिंग स्टोरी, लेटेस्ट न्यूज, गॉसिप एंड अपकमिंग एपिसोड

आज के एपिसोड में अनुपमा कहती है कि वह अनुज की पत्नी है। वह आगे कहती है कि अगर वह यहा नही होती तो अनुज को पता नही चलता। अनुपमा बहुत अधिक पैसे खर्च करने के लिए पाखी को कोसती है। पाखी अनुपमा से यह समझने के लिए कहती है कि चूंकि वह मां नहीं बन सकती, इसलिए वह अपना ध्यान भटकाने के लिए खरीदारी कर रही है। अनुपमा पाखी से खुद का ध्यान भटकाने के लिए सस्ते तरीकों का इस्तेमाल करने के लिए कहती है। पाखी कहती है कि अगर अनुपमा ने भी ऐसा किया होता तो अनुपमा उसे मेडल दे देती। उनका कहना है कि डिंपल विधवा है और मां बनने वाली है, इसलिए सभी उन्हें सहानुभूति दे रहे हैं।

   

अनुपमा पाखी से डिंपल के लिए विधवा शब्द का इस्तेमाल न करने के लिए कहती है। वह पाखी पर गुस्सा करती है कि वह कोई कोर्स करने, मंदिर में प्रार्थना करने या जरूरतमदो की मदद करने के बजाय शॉपिंग कर रही है और अपना ध्यान भटका रही है। अनुपमा ने पाखी से अपने पैरों पर खड़े होने के लिए कहा; नहीं तो भविष्य में उसका बच्चा भी यही कहेगा। वह पाखी से कार्ड वापस करने के लिए कहती है। पाखी कहती है कि वह अनुज को कार्ड लौटा देगी। अनुपमा को कार्ड मिल जाता है और वह उसे तोड़ देती है। वह आगे पाखी से गंदगी साफ करने के लिए कहती है।


अनु की ट्रॉफी देखकर अनुज खुश हो जाता है। उनका कहना है कि अंकुश ने भी कोई ट्रॉफी नही जीती है। मालती अनुज को चाय परोसती है। अनुज अनुपमा की तलाश करता है। अनुपमा अनुज से पाखी को अपना क्रेडिट कार्ड देने के लिए सवाल करती है। वह अनुज से पाखी को पैसे का दुरुपयोग करने से रोकने के लिए कहती है। अनुपमा को अनुज पर गुस्सा आता है क्योंकि उसने पाखी को कार्ड देने से पहले उसकी अनुमति नहीं ली थी।

अनुज अनुपमा से माफी मांगता है। वह अनुपमा से वादा करता है कि वह उससे पूछे बिना कुछ नहीं करेगा। अनुज अनुपमा से पूछता है कि उसने उसे अनु के खेल दिवस के बारे में क्यों नहीं बताया। अनुपमा कहती है कि उसे आखिरी वक्त पर पता चला। अनुज पूछता है, उसका क्या मतलब है? मालती का कहना है कि यह उनकी गलती थी, क्योंकि उन्होने सूचित नही किया। अनुज ने मालती को अब से सावधान रहने के लिए कहा।


दिवाली की खरीदारी करते समय वनराज को समर की याद आती है। हसमुख वनराज का दिमाग भटकाने की कोशिश करता है। समर की वजह से वनराज मोमबत्ती की रोशनी खरीदता है। धनतेरस के मौके पर अनुज और अनुपमा ने घर को सजाया। अनुज अनुपमा से उपहार मांगने के लिए कहता है। अनुपमा अनुज से प्रेशर कुकर गिफ्ट करने के लिए कहती है। अनुज प्रभावित हो गया।

अनुपमा आगे कपाड़िया परिवार के लिए एक स्क्रिप्ट की योजना बनाती है। कपड़िया परिवार अनुज और अनुपमा के अभिनय का आनंद लेता है। अनु का कहना है कि अनुपमा और अनुज भगवान राम और सीता की तरह दिख रहे है। अनुपमा कहती है कि उनके जैसा कोई नहीं हो सकता। वह हर सुख-दुख में अनुज के साथ बनी रहना चाहती है। -एपिसोड समाप्त


प्रीकैप: अनुपमा को पता चलता है कि लीला ने पैसे कमाने का ऑर्डर लिया था। अनुपमा को पड़ोस में मिठाई बांटते देख मालती शर्मिदा हो जाती है। अनुपमा कहती है कि वह लीला के लिए काम कर रही है। मालती गुस्से में खडी है।