अनुपमा 3 दिसंबर 2021 अपडेट: अनुपमा ने काव्या को सबक सिखाया!

अनुपमा रिटेन अपडेट, स्पॉइलर, अपकमिंग स्टोरी, लेटेस्ट न्यूज, गॉसिप एंड अपकमिंग एपिसोड

एपिसोड की शुरुआत अनुपमा के घर भागने और भगवान से प्रार्थना करने से होती है। काव्या इसे देखती है और इसे खत्म करने का फैसला करती है। बा दुल्हन बनकर तैयार हो रही थीं और कहती हैं कि जीवन एक चक्र है। वह अनुपमा की तारीफ करती है। वनराज बापूजी को शादी के लिए तैयार कर रहा है और वह सोचता है कि वह अपने जीवन में उन्हें पाकर धन्य है।

बापूजी तथ्यों को समझाने लगते हैं और वनराज को सलाह देते हैं। बा और बापूजी शादी के लिए आते हैं। वनराज और अनुपमा रस्म करते हैं। जीके कहता है कि अनुपमा और वनराज दोनों अपने मतभेदों को भूलकर शादी के लिए एक साथ आए। अनुज सहमत होता है। जीके पूछता है कि क्या उसे उन्हें एक साथ देखकर बुरा नहीं लगता। अनुज कहता है कि वह जानता है कि वे माता-पिता हैं और उन्हें उनकी खुशी के लिए एक साथ आने की जरूरत है।

बा और बापूजी की शादी हो जाती है। हर कोई उनको चीयर करता है। अनुज उन्हें एक स्मृति चिन्ह भेंट करता है और उन्हें एक-एक हाथ से गाँठ बाँधने के लिए कहकर एक कपल गेम खिलवाता है। वे दोनों सफलतापूर्वक गाँठ बाँध लेते हैं और सभी उनके लिए चीयर करते हैं। फोटोग्राफर सभी को ग्रुप फोटो के लिए बुलाता है। वनराज ने अनुपमा का कंधा पकड़ा और इससे काव्या आग बबूला हो गई। काव्या अनुपमा को खींचती है और वनराज उस पर चिल्लाता है और पूछता है कि वह क्या कर रही है।

काव्या कहती है कि वह वही कर रही है जो अनुपमा ने तोशु की शादी के दौरान उसके साथ किया था लेकिन उस समय वह घर की सदस्य थी जबकि वह बाहरी थी। हालांकि वह कहता है कि अब इसका उल्टा हो रहा है। किंजल कहती है कि वह तब भी ड्रामा कर रही थी और फिर से वही कर रही है। काव्या कहती है कि उनके पास ड्रामा करने का आइडिया नहीं है, लेकिन बात करने के लिए है। अनुपमा कहती है कि अगर ऐसा है तो वह उसे एक कमरे में ले जा सकती थी और मुद्दों को सुलझा सकती थी। काव्या अनुपमा को हाथ से खींचती है और हर कोई उसके व्यवहार से परेशान होता है।

वनराज से सभी यही शिकायत करते हैं। बा परेशान है क्योंकि काव्या एक बार फिर नई मिली शांति को बिगाड़ रही है। अनुज वनराज से कहता है कि काव्या जो कुछ भी कर रही है वह वाकई गलत है। वनराज भी भड़क रहा था। काव्या अनुपमा को अपने कमरे में लाती है और अनुपमा असहज महसूस करती है। काव्या उसका मज़ाक उड़ाती है कि उसे भी ऐसा ही लगता था जब वह बाहरी बनकर इस घर में प्रवेश करती थी। अनुपमा कहती है कि वह यहां सिर्फ शादी की सालगिरह के जश्न के लिए आई थी।

काव्या कहती है कि वह नहीं आई होती और इतना ही नहीं अनुज भी पारिवारिक ड्रामा देखकर तनाव में घूमता रहता है। वह पूछती है कि क्या उनके पास करने के लिए काम नहीं है। वह इसे ना समझने के लिए अशिक्षित होने के लिए उसका मजाक उड़ाती है। अनुपमा कहती है कि अगर वह घर चोरी करने के बजाय बहू के कर्तव्यों को पूरा करती तो वह प्रवेश नहीं करती। वह कहती है कि वह युवा और इतनी पढ़ी-लिखी है जो इस तरह के 4 घर खरीद सकती है लेकिन फिर भी उसने चोरी करना चुना।

अनुपमा कहती है कि उसके पास मरने तक कागज या पैसे नहीं होंगे, बल्कि केवल परिवार होगा। अनुपमा उसे अपने तरीके सुधारने के लिए कहती है वरना वह सभी रिश्ते खो देगी और पूरी तरह से टूट जाएगी।

प्रीकैप : वनराज ने काव्या को तलाक के कागजात देकर सबको चौंका दिया।