अनुपमा रिटेन अपडेट: अनुज ने अनुपमा के लिए लिया ये चोंकाने वाला फैसला!

अनुपमा रिटेन अपडेट, स्पॉइलर, अपकमिंग स्टोरी, लेटेस्ट न्यूज, गॉसिप एंड अपकमिंग एपिसोड

एपिसोड की शुरुआत टीटू द्वारा अनुपमा से पूछने से होती है कि क्या वह ठीक है।  वह बताती है कि वह अकेली रहना चाहती है, वह कहती है कि उसे शाहों से मिलने से कोई नही रोक सकता।  टीटू डिंपी के बारे में पूछता है और अनुपमा आश्वासन देती है कि वह उसका ख्याल रखेगी और उसे केवल घर तक ही सीमित नही रहने देगी।  टीटू उस घटना को याद करता है और फिर लाइव होकर अपने प्रशंसकों से सवाल करता है कि क्या एक लड़की और लड़का सिर्फ दोस्त नही हो सकते।  वह सवाल करता है कि उनकी दोस्ती पर हमेशा संदेह क्यों किया जाता है और वह अक्सर लाइव आने का वादा करता है।  अनुज छोटी को जागता हुआ देखता है और सवाल करता है कि वह अभी तक क्यो जाग रही है।

   

 छोटी अनु बताती है कि उसने अपनी मां और सबसे अच्छी दोस्त दोनों को चोट पहुंचाई है।  वह कहती है कि जब देविका ने बदमाशों के खिलाफ कदम उठाया था तो अनुपमा ने उसका समर्थन किया था लेकिन उसने अपने दोस्त को अकेला छोड दिया।  वह अनुज से कहती है कि वह अनुपमा और उसकी दोस्त दोनों से माफी मांगना चाहती है।  ऐसा सोचने के लिए अनुज उसकी प्रशंसा करता है।  वह अपनी योजना में उससे मदद मांगती है।  वनराज शाह के घर लौटता है और परिवार के सभी सदस्यों को इकट्ठा करता है।  उनका कहना है कि वह जो भी कह रहे है वह चौंकाने वाला हो सकता है लेकिन उन्हें उस पर अमल करना होगा।  वनराज उन्हें किसी भी कारण से अनुपमा से संपर्क करने से रोकता है।

 अनुपमा घर लौटती है और छोटी अनु एक प्यारी सी कविता कहकर उससे माफी मांगती है।  कविता सुनकर वह भावुक हो जाती हैं और दोनों गले मिलते हैं।  वनराज के माता-पिता सवाल करते है कि क्या वह चाहता है कि वे अनुपमा से बात करना बंद कर दें।  वनराज उनसे कहता है कि हर छोटी-छोटी बात के लिए उसे फोन करना बंद करे।  उसके माता-पिता कहते हैं कि जब भी कोई नहीं होता, अनुपमा वहां होती है।  लेकिन वनराज का कहना है कि वह उनके पारिवारिक मामलों में जरूरत से ज्यादा दखल दे रही है।  वह उनसे अनुरोध करता है कि जब भी उन्हें किसी चीज की आवश्यकता हो तो वे उसे बताए और उसे परिवार के बेटे के रूप में अपना कर्तव्य निभाने दे।  वह कहता है कि भले ही अनुपमा ने उनके लिए बहुत कुछ किया है लेकिन वह गलत का साथ दे रही है।

 छोटी अनुपमा को एक सॉरी कार्ड देती है और कहती है कि उसने रिया के लिए भी एक कार्ड बनाया है।  वह किसी को धमकाने का वादा नहीं करती।  उनकी बातचीत देखकर अनुज मुस्कुराता है।  अनुपमा उसे समझाती है कि वे उसे कभी नही छोडेगे क्योकि वह उनके लिए अनमोल है।  अनुपमा और छोटी गले मिलते हैं।  बरखा मालती देवी से कहती है कि अनुपमा फिर से जीत गई है लेकिन मालती उसे अनुपमा के जल्द ही हारने का इंतजार करने के लिए कहती है।  वनराज बताता है कि महिला सशक्तिकरण के नाम पर उसने अपने घर की महिलाओं का दिमाग खराब कर दिया है।

 काव्या और डिंपी अनुपमा का पक्ष लेते हैं।  बा वनराज के सुझाव से सहमत हो जाती है और कहती है कि उन्हें अनुपमा को अपना घर संभालने देना चाहिए।  डिंपी और पाखी फिर से बहस में पड जाते है।  वनराज कहता है कि यह तय है कि कोई भी अनुपमा से संपर्क नहीं करेगा जब काव्या उसके फैसले का विरोध करती है, तो वह उसे घर छोड़ने के लिए कहता है।  अनुपमा और अनुज ने छोटी अनु के साथ हॉट चॉकलेट और मार्शमॉलो खाया।  

काव्या, बापूजी को चुपचाप रोते हुए देखती है और उन्हें सांत्वना देने की कोशिश करती है।  वह काव्या से कहता है कि वह शाह के घर मे न रहे क्योकि यह नरक की ओर है।  बापूजी को काव्या, डिंपी और यहां तक ​​कि अनुपमा के लिए कुछ नहीं कर पाने का अफसोस है।  अनुज अनुपमा से कहता है कि वह वनराज को शाह का घर खुद संभालने दे।  वह उसे छुट्टी लेने के लिए कहता है।  प्रकरण समाप्त होता है।

 प्रीकेप: किंजल बा से कहेगी कि वह परी के जन्मदिन के लिए अनुपमा को आमंत्रित करेगी और जब तक वह नहीं आएगी तब तक केक नही काटेगी।  अनुपमा अनुज से कहती है कि वह परी के जन्मदिन के लिए शाह के घर जाएगी क्योंकि वनराज उसे अपने परिवार की खुशी का हिस्सा बनने से नही रोक सकता।