अनुपमा रिटेन अपडेट: अनुपमा और अनुज के रिश्ते में आई दरार, जानिए क्या मोड़ लेगी शो की कहानी!

अनुपमा रिटेन अपडेट, स्पॉइलर, अपकमिंग स्टोरी, लेटेस्ट न्यूज, गॉसिप एंड अपकमिंग एपिसोड

एपिसोड की शुरुआत छोटी द्वारा अनुपमा पर उसे पीछे छोडने और पहले दूसरों को बचाने के लिए दोषी ठहराने से होती है।  अनुपमा छोटी से कहती है कि वह उसकी मां है वह ऐसा क्यो करेगी। छोटी यह कहकर अंत में कहती है कि वह अनुपमा की अपनी बेटी नही है जबकि परी उसकी अपनी पोती है।  वह कहती है कि कैसे अनुपमा के पास उसके लिए कभी समय नही था लेकिन वह परी को पिकनिक पर ले गई।  मालती देवी छोटी के आरोपों से सहमत है‌।  इतने छोटे बच्चे के दिमाग में जहर भरने के लिए अनुपमा उससे बहस करती है।  अनुज नाराज हो जाता है और बहस रोकने के लिए उन पर चिल्लाता है।  वह छोटी से माफी मांगता है और उसे कमरे में जाने के लिए कहता है।

   

अनुपमा अनुज से कहती है कि छोटी समझ नही रही है लेकिन उसने जो किया वही उस स्थिति से बाहर निकलने का एकमात्र रास्ता था।  अनुज कहता है कि वह जानता है कि वह छोटी के लिए अपनी जान भी दे सकती है और वह हमेशा एक अच्छी माँ है और रहेगी।  उनका कहना है कि छोटी ने जो भी कहा वह गलत है लेकिन पूरी तरह गलत नही है।  वह कहता है कि उस स्थिति मे छोटी को कैसा लगा कि वह अनुपमा के लिए बाद मे आई।  अनुज कहता है कि भगवान की कृपा से सभी बच गए लेकिन अगर काल्पनिक रूप से अनुपमा को परी और छोटी को बचाने के बीच चयन करना होता, तो वह परी को चुनती।

अनुपमा कहती है कि उसे लगा कि दुनिया में कोई भी उसे नही समझता, उसे उसे स्पष्टीकरण देना होगा।  अनुपमा रोती है और कहती है कि केवल वह जानती है कि स्थिति क्या थी और उसने उन्हे कैसे बचाया।  वह बताती हैं कि कैसे कार ऐसी स्थिति में फंस गई थी कि वह चट्टान में गिर सकती थी।  वह कहती है कि वह छोटी को सामने नहीं ले जा सकती थी क्योंकि इससे कार का संतुलन बिगड जाता और वह चट्टान में गिर जाती।  अनुपमा कहती है कि एक मां अपने दोनों बच्चों मे से किसी एक को नही चुन सकती और वह अपनी जान की कीमत पर भी उन दोनों को बचाएगी।  अनुपमा अनुज से पूछती है कि उसका पति होने के नाते उसे इस तरह का संदेह कैसे हो सकता है।

अनुपमा अपनी किस्मत को दोष देती है और कहती है कि जिस चीज की हर कोई तारीफ करता है उसके लिए उसे सफाई देनी पड रही है। अनुज चुपचाप उसकी बातें सुनता रहता है।  अनुपमा कहती है कि वह अपने मातृत्व का प्रमाणपत्र नही देगी।  अनुज का कहना है कि उन्होने कभी भी उसके मातृत्व पर आपत्ति नही जताई।  वह बताते हैं कि उनका 3 साल का रिश्ता उनके पिछले 26 साल के रिश्ते से छोटा क्यो लगता है।  वह कपाड़िया के मुकाबले शाहों को प्राथमिकता देने के बारे में कहते है।  अनुज का कहना है कि वह पुराने रिश्तो से इस कदर बंध चुकी है कि नए रिश्ते को पूरी तरह से स्वीकार नही कर पाती।

अनुपमा कहती है कि मालती देवी और बरखा के असली चेहरे के बारे में जानने के बावजूद भी अनुज ने उन्हे रोकने के लिए कभी कोई रेखा नही खीची।  लेकिन उन्हें मौका देना स्वाभाविक है क्योकि वे परिवार है।  वह पूछती है कि क्या उसके परिवार को मौका मिल सकता है तो उसे क्यों नही, जब उसने उसे सिखाया है कि पत्नी और पति समान हैं।  अनुज का कहना है कि उन्होने मालती देवी को कभी अपनी मां के रूप में स्वीकार नही किया, इसलिए उनमें जो भी विषाक्तता है उसे संभालना उनकी जिम्मेदारी है।  अनुज अनुपमा पर कपाड़िया पर शाह को प्राथमिकता देने का आरोप लगाता रहता है और उसे पिछली घटनाओं की याद दिलाता है जहां उसने भी यही चुना था।  वह उसे याद दिलाता है कि वे मौजूद हैं और उन्हे उसकी जरूरत है।  अनुपमा अनुज से पूछती है कि क्या उसे लगता है कि वह अनुज और छोटी को नजरअंदाज करती है और प्यार नहीं करती है। एपिसोड का अंत तब होता है जब अनुज इसे स्वीकार कर लेता है और अनुपमा का दिल टूट जाता है।

प्रीकेप: अनुपमा अमेरिका के लिए उडान भरेगी।  अनुपमा की दोस्त उससे कहेगी कि वह खुद को रिश्तों से आजाद कर उड जाए। अनुपमा कहती हैं कि जब रिश्ते पीछे छूट जाते हैं तो यादे भी साथ आती है, चाहे वह देश मे हो या विदेश में।  वह फ्लाइट में नजर आएगी।