गुम है किसी के प्यार में अपडेट: साई ने पाखी को उसकी सोच के लिए दिया मुहतोड़ जवाब, सत्या फंसा इस असमंजस में!

एपिसोड की शुरुआत विराट ने साई से यह कहते हुए की कि वह उसके गुस्से के खत्म होने का इंतजार करेगा। साईं कहती है कि ऐसा नहीं होगा और मैं तुम्हारे पास नहीं लौटूंगी। विराट कहता है कि तुम मेरे अलावा किसी से प्यार नहीं कर सकती इसलिए तुम मेरे पास लौट आओगो। साई निकल जाती है। बाद में साईं सत्या के केबिन में जाती है और उसे बस स्टैंड पर इंतजार कराने के लिए माफी माँगती है, लेकिन देखती है कि वह अपने केबिन में नहीं है। उसी समय साईं को सावी का फोन आता है। साई कॉल अटेंड करती है। वह सावी से विनू की देखभाल करने के लिए कहती है और कहती है कि वह सत्या से मिलने के लिए अस्पताल में है और सावी से उसे समुद्र तट पर नहीं ले जाने के लिए माफी मांगती है।

सावी कहता है कि इट्स ओके क्योंकि तुम पिताजी से शादी कर रही हो और मैं खुश हूं। साई ने विराट पर आरोप लगाया। पाखी ने अपना सामान पैक किया। वह पत्र देखती है और आशा करती है कि एक दिन तुम इस पत्र को पढ़ोगे और मेरे दर्द को समझोगे। वह उसे अलमारी में रख देती है। वह विनू की भेंट की गई साड़ी को देखती है और सोचती है कि सिर्फ वही है जो उसकी परवाह करता है। सत्या केबिन में आता है और साईं को चिढ़ाता है। साईं ने उसे चिढ़ाना बंद करने के लिए कहा और कहा कि उसे कहने दो कि वह क्यों आई है। साई उससे माफी मांगती है और कहती है कि वह उससे मिलने नहीं आई क्योंकि विराट ने जनता के सामने उसका मजाक उड़ाया।

   

सत्या कहता है कि दुनिया के सामने भावनाओं का इज़हार करने के लिए काफी हिम्मत चाहिए। वह याद करता है कि कैसे उसने सबके सामने गिरिजा को प्रपोज किया था। डीआईजी विराट के घर पर विराट का इंतजार करते हैं। विराट घर लौट आया। वह डीआईजी से उनके घर आने का मकसद पूछता है। डीआईजी विराट को उसके व्यवहार के लिए डांटते हैं और उसे अपने व्यवहार को कभी नहीं दोहराने के लिए कहते हैं। वह चले जाते हैं। निनाद विराट से कहता है कि वह गलत रास्ते पर जा रहा है। विराट कहता है कि वह साईं को पाने के लिए किसी भी हद तक जाएगा।

अश्विनी चिंतित महसूस करती है। पाखी वीनू की फोटो देखती है। वह सोचती है कि वह अपने परिवार को टूटते हुए नहीं देख सकती है और वह उसे साई की माँ को बुलाते हुए नहीं देख सकती क्योंकि वह जानती है कि विराट उसे बदल देगा इसलिए वह जा रही है अन्यथा वह उसे कभी नहीं छोड़ना चाहती थी। वह पैकिंग खत्म करती है और तलाक के कागजात लेकर निकल जाती है।


सत्या साई से पूछता है कि क्या वह एक मिनट के लिए भी विराट के कन्फेशन से खुश नहीं हुई। साई कहती है, नहीं, विराट ने तमाशा किया और मैं विराट से शादी करने के लिए तैयार नहीं हूं, लेकिन विराट को अपने जीवन को बर्बाद करने से रोकने के लिए मुझे किसी से शादी करने की जरूरत है, लेकिन ऐसा दूल्हा ढूंढना मुश्किल है, जो शादी से कुछ भी उम्मीद नहीं करे। साईं और सत्या एक दूसरे को देखते हैं। भवानी विराट से पूछती है कि सई ने उसे क्या कहा। विराट कहता है कि साई ने मुझे यह कहकर बेवकूफ बनाने की कोशिश की कि वह किसी और से शादी करेगी। भवानी पूछती है कि क्या उसे यकीन है कि साईं के जीवन में कोई नहीं है।

पाखी उनकी बातचीत सुनती है। सत्या साईं से कहता है कि उन दोनों पर एक जैसा दबाव है। साई सहमत होती है। सत्या ने मजाकिया अंदाज में कहा कि उन्हें शादी करनी होगी। साई मुस्कुराई। नर्स वहां आती है और उन्हें इमरजेंसी के बारे में बताती है। दुर्घटना के मामले में इलाज के लिए सत्या साईं को अपने साथ ले जाता है। भवानी ने विराट को साईं और सत्या के रिश्ते के बारे में चेतावनी दी। वह बताती है कि कैसे सत्या ने साईं को केस जीतने में मदद की। विराट चिंतित हो जाता है। सावी वहां आती है और विराट से सोने के लिए कहती है और कहती है कि साई सत्या से मिलने गई थी इसलिए वह देर से लौटी।

प्रीकैप – विराट साईं की कार के सामने अपनी जीप रोकेगा। साई विराट से उसे नहीं रोकने के लिए कहती है। वह उससे सावी के सामने अजीब व्यवहार नहीं करने का अनुरोध करती है। विराट उसका हाथ पकड़ता है और उससे उसको नहीं छोड़ने के लिए कहता है। साईं ने उसे अपना हाथ छोड़ने के लिए कहा। विराट देखता है कि साईं को सत्या के फोन आ रहे हैं। विराट उसका हाथ छोड़ देता है और पूछता है कि तुम मुझे सीधे क्यों नहीं बता सकती कि तुम्हारा सत्या के साथ रिश्ता है? साईं अपना आपा खो देती है और कहती है कि मैं तुमसे सीधे कह रही हूं कि तुम मेरे प्यार के लायक नहीं हो और दूर चली जाती है।