गुम है किसी के प्यार में 27 सितंबर 2021 रिटेन अपडेट : विराट को पता चला चोंकाने वाला सच!

गुम है किसी के प्यार में रिटेन अपडेट, स्पॉइलर, अपकमिंग स्टोरी, लेटेस्ट न्यूज, गॉसिप एंड अपकमिंग एपिसोड

एपिसोड की शुरुआत में साईं पुलकित को फोन करती है और वह पूछता है कि उसने क्या फैसला किया है। साई कहती है कि उसका अंतिम निर्णय है कि वह नागपुर छोड़ देगी और गढ़चिरौली में रहेगी। पुलकित उससे कहता है कि उसे कुछ लोगों के लिए अपना करियर बर्बाद नहीं करना चाहिए। साईं कहती है कि विराट के गुस्से को देखकर वह अब यहां नहीं रह सकती।

पुलकित उसे नागपुर में किसी और जगह रहने के लिए कहता है नहीं तो वह मुसीबत में पड़ जाएगी। साईं कहती है कि जिस दिन से उसके पिता ने उसे छोड़ दिया और विराट जैसे व्यक्ति से उसकी शादी हो गई, उस दिन से वह समस्या का ही सामना कर रही है। वह कहती है कि वह यहाँ रहकर विराट के परिवार को परेशान नहीं करना चाहती, हालाँकि आजकल विराट उसके साथ दुर्व्यवहार कर रहा है, लेकिन कमल की मृत्यु के बाद वह ही उसके साथ खड़ा रहा और उसके लिए बहुत कुछ किया इसलिए वह उसे परेशान नहीं कर सकती क्योंकि लोग चव्हाण को ताना मारेंगे अगर वह नागपुर में ही अलग रहती है। वह भावुक हो जाती है।

विराट सनी से फोन पर बात करता है और उसे बताता है कि वह साईं के गुस्से से परेशान है। वह उसे संभालने में असमर्थ है। वह देवयानी को देखता है और कॉल काट देता है। वह उससे पूछता है कि क्या वह साई के साथ उसके व्यवहार के कारण नाराज़ है।देवयानी कहती है कि साई दुखी है और उसने एक फैसला किया है। विराट उससे पूछता है कि ये क्या है? देवयानी कहती है कि यह उसका है और साईं का रहस्य है वह उसे नहीं बता सकती। देवयानी खेल खेलती है जैसा साईं ने उसे करने के लिए कहा था। लेकिन विराट भ्रमित हो जाता है और उसे रहस्य बताने के लिए कहता है लेकिन देवयानी कहती है कि उसे साईं से बात करनी चाहिए। विराट ने देवयानी को चकमा देते हुए कहा कि उसका और सम्राट का भी एक राज है। यदि वह उसे अपने रहस्य के बारे में नहीं बताती है तो वह उसे नहीं बताएगा।

देवयानी कहती है कि साईं का यहां रहने का मन नहीं है। विराट ने यह कहते हुए वाक्य पूरा किया कि साईं घर छोड़ना चाहती है। देवयानी पूछती है कि उसने कैसे अनुमान लगाया। वह कहता है कि वह पहले दिन से ही एक धमकी दे रही है कि वह घर छोड़ देगी इसमें कोई नई बात नहीं है। वह जा सकती है। वह उसे नहीं रोकेगा। पाखी ये सुन लेती है। पुलकित ने साई को अपना फैसला बदलने के लिए कहा। इससे उसकी पढ़ाई बाधित होगी। साई कहती है कि वह अपना मन नहीं बदलेगी। पुलकित कहता है कि उसे यह पता लगाना होगा कि गढ़चिरौली के किसी कॉलेज में साईं के लिए कोई सीट उपलब्ध है या नहीं। साईं कहती है कि उसे पहले से ही पता है कि उसके लिए वहां सीटें उपलब्ध हैं।

पुलकित देवयानी के बारे में कहता है जो साईं के घर छोड़ने के बारे में जानकर निराश हो जाएगी। साई कहती है कि देवयानी को पहले ही पता चल गया है कि वह जा रही है। देवयानी ने विराट से साई को जाने से रोकने की गुहार लगाई। वह रोने लगती है और विराट उसे ना रोने के लिए कहता है। वह कहता है कि वह साईं को जबरन जाने से नहीं रोक सकता। वह उसे बंद नहीं कर सकता। देवयानी कहती है कि साईं उसकी पत्नी है, वह इस तरह अपनी शादी नहीं तोड़ सकता। उसे फिर से उसे बंद कर देना चाहिए। विराट कहता है कि उसने अपनी जिम्मेदारियों को पूरा किया है और अब साईं आजाद है। वह जो चाहे कर सकती है। देवयानी कहती है कि अगर वह साईं को नहीं रोकता है तो बप्पा उसे माफ नहीं करेंगे।

पाखी आती है और कहती है कि विराट बच्चा नहीं है, वह इस सब से नहीं डरेगा। देवयानी उससे कहती है कि वह इस मामले में अपनी टांग ना अड़ाए। वह उसे जाने के लिए कहती है। पाखी मजाक में कहती है कि साईं ने देवयानी को उससे नफरत करने के लिए प्रशिक्षित किया है। पुलकित साई से कहता है कि वह उसे हरिनी से मिलवाएगा। लेकिन साईं सोचती है कि वह इंतजार नहीं करेगी, आरती के बाद वह घर छोड़ देगी। देवयानी पाखी को हमेशा साईं के बारे में गलत कहने के लिए डांटती है। विराट स्थिति को क्यों नहीं समझ रहा है। विराट कहता है कि वह कुछ भी समझना नहीं चाहता है। वह साईं को नहीं रोकेगा।

पाखी कहती है कि साईं हमेशा से स्वार्थी थी, वह सिर्फ दूसरों की देखभाल करके दिखावा करती है। देवयानी कहती है कि विराट को पछतावा होगा। अश्विनी खाना लेकर आती है और पूछती है कि वह किससे बात कर रही थी। साई कहती है कि यह पुलकित था। अश्विनी कहती है कि वह उसे खाना खिलाना चाहती है और वह जानती है कि साईं भूखी है। अश्विनी उसे डांटती है और साई सोचती है कि ये इस घर में उसका आखिरी दिन है और वह अश्विनी की डांट को याद करेगी।

प्रीकैप – विराट साई से कहता है कि उसका अब उसकी दराज में कुछ भी नहीं है। अश्विनी उससे पूछती है कि वह क्या छुपा रही है। साई चुप रहती है।