गुम है किसी के प्यार में 29 अक्टूबर रिटेन अपडेट: विराट ने साईं के चरित्र पर उठाए सवाल, साईं ने उठाया विराट पर हाथ और…

गुम है किसी के प्यार में रिटेन अपडेट, स्पॉइलर, अपकमिंग स्टोरी, लेटेस्ट न्यूज, गॉसिप एंड अपकमिंग एपिसोड

एपिसोड की शुरुआत में चव्हाण डाइनिंग टेबल पर बैठे होते हैं और अपना खाना खाने की तैयारी करते हैं तभी कोई दरवाजा खटखटाता है। ओंकार दरवाजा खोलने जाता है और विट्ठल को देखकर चौंक जाता है। वह उसपर उग्र हो जाता है और वहां आने के लिए उससे सवाल करता है। वह उसे अंदर जाने की अनुमति देने से भी इनकार करता है जिसपर विट्ठल जबरदस्ती आने करने की कोशिश करता है। विट्ठल अपनी राजनीतिक शक्ति के बारे में बात करता है, जिसपर ओंकार जवाब देता है कि उनके पास भी अब वही शक्ति है। इस बीच, विट्ठल जबरदस्ती चव्हाण निवास के अंदर पहुंच जाता है और परिवार के सभी सदस्य उसे रोकने के लिए वहां आ जाते हैं। वह भवानी का सामना करता है, जबकि वह उसे नशे में देखती है और घृणा महसूस करती है।

   


इधर, भवानी विट्ठल को अपने घर से जाने के लिए कहती है लेकिन वह इनकार करता है और घोषणा करता है कि वह महिलाओं से बात नहीं करता है। वह विराट का नाम चिल्लाता है और उसे आने के लिए कहता है जबकि विराट तुरंत उसका सामना करता है। विराट विट्ठल पर क्रोधित हो जाता है और उससे उसके आने के बारे में सवाल करता है, विट्ठल हंसता है और उसे पाखी से शादी करने के लिए बधाई देता है। विट्ठल मुस्कुराता है और कहता है कि विराट की दो पत्नियां साई और पाखी हैं, जिसपर विराट पाखी के लिए स्टैंड लेता है और विट्ठल को उसके खिलाफ कुछ भी कहने के लिए फटकार लगाता है।

इस बीच, विट्ठल ने भी विराट को अपने बेटे जगताप से दूर रहने के लिए कहा। वह यह भी कहता है कि विराट की तरह, साईं के जीवन में भी दो पुरुष हैं, एक विराट और दूसरा जगताप है। दूसरी ओर, विट्ठल साई के चरित्र पर आरोप लगाता है और कहता है कि जगताप को उसकी और उसकी बेटी सावी की बहुत चिंता है। वह विराट को इसके बारे में सोचने के लिए कहता है और सावी और जगताप के लगाव के बारे में याद दिलाता है। विराट चिंतित हो जाता है और विट्ठल पर चिल्लाता है, जिसपर विट्ठल उसे चेतावनी देता है और जगताप के पीछे जाने के लिए कहता है। विट्ठल वहां से चला जाता है जबकि भवानी साईं पर सारा दोष देती है। वह उसके चरित्र पर संदेह करती है जबकि विराट साई के लिए स्टैंड लेता है।

भवानी उसे उसके फैसले के लिए डांटती है, जबकि वह सच्चाई के बारे में जानने के लिए साई का सामना करने का फैसला करता है। वह तुरंत वहां से निकल जाता है, तभी भवानी कहती है कि साईं और सावी की वजह से उन्हें और क्या झेलना पड़ेगा। आगे, विराट साई का दरवाजा खटखटाता है और उसे जबरदस्ती अपनी कार के अंदर बैठाता है। वह उसे एक सुनसान जगह पर ले जाता है और उसे सावी के पिता की सच्चाई के बारे में बताने कहता है। वह जगताप के साथ उसके रिश्ते के बारे में पूछता है और सवाल करता है कि वह उसके इतने करीब क्यों है और वह उसे अपने घर के अंदर क्यों जाने देती है? वह उसका सवाल सुनकर चौंक जाती है और घोषणा करती है कि उसे इस बात से घृणा है कि वह उससे प्यार करती थी।

विराट भी साई को फटकार लगाता है और जगताप के साथ उसके रिलेशनशिप स्टेटस के बारे में पूछता है। वह सवाल करता है कि वह सावी के प्रति इतना स्नेह क्यों दिखाता है और उसे सावी के पिता के बारे में बताने के लिए कहता है जिसपर वह अपने चरित्र पर उंगली उठाने के लिए उस पर चिल्लाती है। वह विट्ठल के आरोपों के बारे में बताता है जिसपर वह कहती है कि उसे किसी के सामने खुद को साबित करने की जरूरत नहीं है। वह उस पर भड़की और उसे जोर से थप्पड़ मारा जिसपर वह हैरान रह गया। आगे करिश्मा पूछती है कि क्या विट्ठल द्वारा लगाए गए आरोप सही हैं? जिसपर पाखी साईं के लिए स्टैंड लेती है और उसे किसी पर भरोसा न करने के लिए कहती है।

भवानी और सोनाली ने पाखी को विराट के साथ अपने रिश्ते की देखभाल करने की सलाह दी, जिसपर पाखी निराश हो जाती है और कहती है कि वह जानती है कि अपने रिश्ते को कैसे संभालना है। वह दूसरों को खाना परोसती है जिसपर भवानी कहती है कि उन्हें सिर्फ पाखी की चिंता है। इस बीच, साईं उन सभी समस्याओं के बारे में बात करती हैं जिनका एक महिला सामना करती है और समाज की सोच पर क्रोधित हो जाती है।

प्रीकैप:- विराट जगताप से झगड़ता है और उसका कॉलर पकड़ लेता है। वह उसे सबक सिखाने की घोषणा करता है तभी जगताप उसे सच बताता है कि सावी उसकी बेटी है। विराट चौंक जाता है और जगताप से पीछे हट जाता है। जबकि, साईं सावी के साथ शहर छोड़ने का फैसला करती है। वह ट्रेन के अंदर जाने ही वाली थी कि तभी विराट वहां आ जाता है और उसे जाने से रोकने के लिए सावी का हाथ पकड़ लेता है। इस बीच, साई और विराट एक दूसरे को देखते हैं और सावी चौंक जाती है।