गुम है किसी के प्यार में 14 जून 2021 रिटेन अपडेट : सनी ने विराट और साई के बीच की दूरियां कम करने की कोशिश की!

गुम है किसी के प्यार में रिटेन अपडेट, स्पॉइलर, अपकमिंग स्टोरी, लेटेस्ट न्यूज, गॉसिप एंड अपकमिंग एपिसोड

एपिसोड की शुरुआत साईं के नींद से जागने से होती है। देवयानी साईं के लिए चाय लाती है और कहती है कि उसने बनाई है। देवयानी यह भी कहती है कि माधुरी उसका बहुत ख्याल रखती है। साई खुश हो जाती है। साई ने देवयानी को यह कहते हुए चिढ़ाया कि उसने पुलकित को प्रभावित करने के लिए चाय बनाई है। माधुरी कहती है कि साईं की वजह से देवयानी की हालत में धीरे-धीरे सुधार हो रहा है। देवयानी मानती है कि पाखी ने साईं को चोट पहुंचाने के लिए कुछ किया होगा इसलिए उसने चव्हाण निवास छोड़ दिया।

साईं कहती है कि उसे उनकी परवाह नहीं है जो उसे प्यार नहीं करते। लेकिन जो उससे प्यार करते हैं वह उनकी परवाह करती है। देवयानी कहती है कि इसमें विराट भी शामिल है। हरिनी कहती है कि कल रात साईं विराट को याद कर रही थी। देवयानी कहती है कि मैं सही थी, तुम विराट के बिना नहीं रह सकती। हरिनी स्कूल के लिए तैयार हो जाती है। साईं सोचती है कि वह इस बात को लेकर अनिश्चित है कि वह विराट के साथ रह सकती है या नहीं। विराट डॉक्टर की नियुक्ति के लिए निकलने वाला होता है। सनी वड़ा पाव लेकर आता है।

विराट कहता है कि साईं को भी इसे खाना बहुत पसंद है। साई सोचती है कि विराट ने उसे क्या जवाब दिया होगा। उसने देखा कि उसका फोन स्विच ऑफ है। वह यह सोचकर परेशान हो जाती है कि विराट ने उसे कोई जवाब नहीं दिया। विराट सनी से कहता है कि वह साईं के बारे में नहीं सोचना चाहता है इसलिए वह ड्यूटी में शामिल होना चाहता है। सनी ने पाखी का उल्लेख करते हुए कहा कि वह साई और विराट के तर्क का कारण है। विराट कहता है कि वह इस सब पर चर्चा नहीं करना चाहता। सनी जा सकता है।

सनी कहता है कि विराट वास्तव में बेवकूफ है कि वह साई की भावनाओं को नहीं समझ सकता। विराट ने जवाब दिया कि अश्विनी वही कह रही थी, अगर साई चीजों को सुलझाना नहीं चाहती है तो वह क्या कर सकता है। सनी ने खुलासा किया कि साईं पहले से ही पाखी से तुम्हारे वादे के बारे में जानती थी, लेकिन वह निराश हो गई क्योंकि उसके मन में तुम्हारे लिए भावनाए हैं। वह तुम्हारी परवाह करती है। विराट सोचता है कि साई ने कुछ खाया होगा या नहीं। दूसरी तरफ साई कहती है कि वह विराट के बारे में नहीं सोच सकती। सनी विराट को समझाता है कि साई को उसकी हरकतों की परवाह सिर्फ इसलिए है क्योंकि वह उससे प्यार करने लगी है।

पाखी उनकी बात सुन लेती है और चौंक जाती है। सनी जो कह रहा है उस पर विराट हंसता है और विश्वास नहीं करता। वह कहता है कि साईं उससे बात भी नहीं करना चाहती। उसने एसएमएस भेजने के बाद अपना फोन भी स्विच ऑफ कर दिया ताकि वह उसे संदेश न भेज सके। पाखी राहत महसूस करती है कि विराट ऐसा नहीं सोचता कि साईं के मन में उसके लिए भावनाएं हैं। सनी ने विराट से कहा, साईं ने तुम्हे संदेश भेजा है कि यह महत्वपूर्ण है। वह भी तुम्हारे लिए अपनी भावनाओं का एहसास नहीं कर पा रही है, उसने अभी तक इसे स्वीकार नहीं किया है।

साईं सोचती है कि आज फिटनेस प्रमाणपत्र के लिए विराट की डॉक्टर के साथ नियुक्ति है, लेकिन वह परवाह नहीं करेगी क्योंकि उसकी देखभाल करने वाले अन्य लोग हैं। वह कहती है कि उसका फोकस सिर्फ पढ़ाई पर रहेगा। विराट कहता है कि उसे अभी भी विश्वास नहीं हो रहा है कि साईं उससे प्यार करती है। सनी कहता है कि विराट अगली बार से साई के भावों को नोटिस करे। उसका वास्तव में क्या मतलब था। पाखी अंदर आती है और सनी से पूछती है कि वह सुबह- सुबह क्यों आया है। सनी कहता है कि वह विराट का दोस्त है, वह उससे कभी भी मिल सकता है।

पाखी साईं पर आरोप लगाने लगती है कि वह अब कहां है? उसने कहा कि वह विराट की देखभाल करेगी क्योंकि वह यहां नहीं है। वह अपने कर्तव्यों के बारे में भूल गई। सनी कहता है कि साईं ने विराट को मैसेज किया और उन्हें दवाओं की याद दिला दी। वह शायद पाखी की वजह से वापस नहीं आ रही है। पाखी चौंक जाती है और कहती है कि सनी उसे जानता है फिर भी वह उसे गलत समझ रहा है। सनी कहता है कि पाखी का विराट से जो भी रिश्ता था, वह शादी से पहले था, अब उसे विराट की चिंता नहीं करनी चाहिए क्योंकि साईं उसकी पत्नी है।

पाखी कहती है कि उसने विराट से ब्रेकअप नहीं किया है। विराट ने फैसला लिया। सनी कहता है कि फिर भी तुमने सम्राट से शादी की, मुझे मत बताओ विराट ने उस दिन भी तुमसे वादा किया था। पाखी आश्चर्य से विराट को देखती है। विराट ने सनी को रुकने के लिए कहा। सनी कहता है कि पाखी सम्राट के जीवन को नष्ट नहीं कर सकती। इसमें सम्राट का कोई दोष नहीं है। पाखी कहती है कि साईं ने सनी को भी भड़काया है। विराट कहता है कि साईं सनी से मिली भी नहीं है, वह ऐसा कैसे कर सकती है। पाखी हमेशा हर स्थिति को गलत समझती है और उसका एक अलग अर्थ ढूंढती है।

प्रीकैप- विराट और साई अस्पताल में मिलते हैं। विराट चुप रहता है और उम्मीद करता है कि साई उसके लिए अपनी भावनाओं को कबूल करेगी। साईं कुछ कहने की सोचती है जो वह कल रात से सोच रही है।