गुम है किसी के प्यार में 23 अक्टूबर 2021 रिटेन अपडेट : साईं के इस कदम से विराट सरप्राइज्ड!

गुम है किसी के प्यार में रिटेन अपडेट, स्पॉइलर, अपकमिंग स्टोरी, लेटेस्ट न्यूज, गॉसिप एंड अपकमिंग एपिसोड

एपिसोड की शुरुआत अश्विनी द्वारा अपने परिवार को सांत्वना देने से होती है कि उसने विशेषज्ञ से पूछकर निर्णय लिया है, हर कोई हैरान हो जाता है। निनाद कहता है कि निर्णय लेने से पहले उसने भवानी के साथ चर्चा नहीं की, साईं ने पूछा कि क्या उसने डॉक्टर अंजलि के साथ चर्चा की थी? अश्विनी कहती है कि हां उसने डॉक्टर अंजलि से चर्चा की थी और वह उन्हें यह भी बताती है कि डॉक्टर अंजलि से बात करने के बाद ही साईं ने दुर्घटना के बाद बात करना शुरू किया था।

निनाद अश्विनी से कहता है कि उसे कम से कम उनसे पूछना चाहिए था जिनके लिए वह निर्णय ले रही है, उन्हें यह पसंद है या नहीं। अश्विनी ने विराट से पूछा कि क्या वह उनके लिए उसके फैसले से सहमत है या नहीं। विराट कहता है कि वह उसके लिए, लिए गए फैसले से सहमत है, यहां तक ​​​​कि साई भी अश्विनी के फैसले का समर्थन करती है। आगे पाखी कहती है कि क्या ये कम था कि पति पत्नी होने के बाद ही भी वे अलग-अलग सोते थे। हर कोई हैरान हो जाता है, विराट को बुरा लगता है।

भवानी ने पाखी से स्पष्ट रूप से कहने के लिए कहा कि वह क्या कहना चाहती है, तो पाखी बताती है कि उनकी शादी के बाद विराट बिस्तर पर सोता था जबकि साईं फर्श पर सोती थी। इस बीच साईं पाखी को जवाब देती है कि उसे इस बात का ध्यान रखना चाहिए कि वह और सम्राट क्या कर रहे हैं क्योंकि वे भी शादीशुदा हैं। सम्राट भी पाखी से यह कहता है कि उसे पहले अपनी बात खुद संभालनी चाहिए क्योंकि जब सम्राट वापस आया तो वह भी गेस्ट रूम में सो रहा था और साथ ही वह कहता है कि यह पति-पत्नी के बीच का बहुत ही निजी मामला है।

अश्विनी ने साईं को कमरे में आने और आराम करने के लिए कहा। भवानी कहती है कि पहले ही देर हो चुकी है, महाभोग के लिए मेहमान आ रहे होंगे, उन्हें खाना बनाना शुरू करना होगा। वह कहती है कि खाना बनाने में सारी बहू उसकी मदद करेगी। सोनाली कहती है कि साईं सहित सभी बहू। अश्विनी को बुरा लगता है और वह कहती है कि साई अभी अस्पताल से वापस आ रही है, वह यह सोच भी कैसे सकती है।

सोनाली की टिप्पणी पर भवानी भड़क जाती है, वह कहती है कि हाँ तुम सही हो सोनाली कि साई को भी उनकी मदद करनी चाहिए लेकिन अगर वह मदद नहीं कर सकती तो साईं की जगह किसी को उसकी मदद करनी चाहिए। वह साईं की जगह सोनाली का नाम लेती है, सोनाली अपना नाम सुनकर चौंक जाती है। ओंकार भवानी से पूछता है कि क्या उसने सोनाली से उसकी मदद करने के लिए कहा, वह मानती है कि हाँ वह सोनाली को साईं के खिलाफ बकवास करने के लिए दंडित कर रही है। सोनाली कहती है कि उसे नहीं पता कि ये सब कैसे करना है। भवानी कहती है कि वह जानती है कि वह अमीर परिवार से आती है लेकिन उसकी शादी चव्हाण परिवार में हुई है इसलिए उसे यहां के नियमों का पालन करना होगा।

सोनाली कहती है कि करिश्मा उसकी जगह भवानी की मदद करेगी, भवानी कहती है कि करिश्मा पहले से ही उसकी मदद कर रही है। पाखी भी भवानी से यह कहती है कि अगर वह ये काम करना नहीं जानती तो वह उसे करने के लिए कैसे कह सकती है। भवानी ने सोनाली को अपने साथ किचन में आने के लिए कहा। शिवानी अश्विनी से कहती है कि ये चीजें होंगी, साईं को आराम करने के लिए ले जाना बेहतर है। अश्विनी साईं को उसके नए कमरे में ले आती है और कहती है कि जब उसने उससे कहा कि वह उसे एक अलग कमरा देगी, तो साईं इतनी उत्साहित हुई कि इसलिए उसने ऐसा किया है।

साईं अश्विनी को बताती है कि गढ़चिरौली में जब वह अपने आबा के साथ रह रही थी तो उसका अलग कमरा था। वह अश्विनी से कहती है कि वह अपने कमरे को इस तरह सजाएगी, क्योंकि विराट सर यहां दखल देने के लिए नहीं आएंगे। वह कहती है कि अब कोई नहीं पूछेगा कि तुम कब तक सोओगी और अब कोई उसे परेशान नहीं करेगा। अश्विनी उसे बताती है कि उसकी सारी चीजें यहाँ हैं, यहाँ तक कि उसे पूजा के लिए जो पोशाक पहननी है वह यहाँ रखी है।

दूसरी तरफ विराट अपने कमरे में साईं को याद करने लगा, उसे कमरे में हर जगह उसकी यादों का फ्लैश बैक याद आता है। वह अपनी अलमारी खोलता है और उसके कपड़े नहीं पाता है तो वह उसके साथ लाए गए बैग को खोलता है। वह उसके कपड़े रखने की कोशिश करता है क्योंकि उसकी यादें उससे जुड़ी हैं। विराट साईं का एक पुराना उपहार खोलता है और उसे देने की सोचता है लेकिन फिर वह सोचता है कि अगर वह उससे दूर रहे तो यह उसके लिए अच्छा है।

प्रीकैप- ओंकार साई को ताना मारता है और कहता है कि एक दिन वह हमारा घर तोड़ देगी। सोनाली भी उसका समर्थन करती है और कहती है कि वह परिवार के महत्व को नहीं समझ सकती क्योंकि वह अनाथ है। सम्राट कहता है कि वह उसका भाई है वह अनाथ नहीं है। अश्विनी कहती है कि वह उसकी मां है फिर विराट भी साईं का समर्थन करना चाहता था लेकिन समझ नहीं पा रहा था कि वह उसके साथ क्या संबंध रखता है।