गुम है किसी के प्यार में 8 सितंबर 2021 रिटेन अपडेट : विराट को अपने ट्रांसफर को रोकने में साई के हाथ होने का शक!

गुम है किसी के प्यार में रिटेन अपडेट, स्पॉइलर, अपकमिंग स्टोरी, लेटेस्ट न्यूज, गॉसिप एंड अपकमिंग एपिसोड

एपिसोड की शुरुआत में चव्हाण हाउस में जन्माष्टमी पूजा की तैयारियों से होती है। फल ठीक से ना काटने पर सोनाली करिश्मा को डांटती है। करिश्मा सोनाली को ताना देती है कि अगर उसे इतना कुछ पता है तो वह काम खुद कर ले। करिश्मा कहती है कि उसके माता-पिता ने उसे घर पर रुकने के लिए कहा था लेकिन वह यहां पूजा के लिए वापस आ गई। सोनाली करिश्मा से कहती है कि वह काम से बचने के लिए हमेशा फंक्शन के दौरान भाग जाती है। करिश्मा ताना मारती है कि सोनाली घर में रहकर भी कोई काम नहीं करती और सब हंस पड़ते हैं।

भवानी सुंदर रंगोली के लिए पाखी की प्रशंसा करती है और अश्विनी को ताना मारती है कि जब घर में सभी लोग किसी ना किसी काम में व्यस्त हैं तो तुम्हारी बहू घर पर भी नहीं है। अश्विनी बताती है कि साईं ने पहले ही मंदिर की सजावट कर दी है। भवानी सहमत होती है कि सजावट अच्छी है। अश्विनी भगवान कृष्ण के लिए छप्पन भोग बनाने के लिए पाखी की प्रशंसा करती है। भवानी कहती है कि आज पाखी भगवान कृष्ण के लिए दीया जलाएगी। साई देर से घर लौटती है और विराट से मिलती है।

विराट साई से बात नहीं करता और अपने काम में लग जाता है। साई सोचती है कि क्या विराट उसे अपने स्थानांतरण पर रोक के बारे में बताएगा। साईं विराट से उसके तबादले के बारे में सवाल पूछकर उसे चिढ़ाती है। साईं विराट को तब तक टोकती रहती है जब तक कि वह उसे यह नहीं बता देता कि उसका स्थानांतरण रुक गया है और वह अब नहीं जाएगा। साईं विराट से पूछती है कि उसने बताया था कि अब उसका ट्रांसफर कैंसिल नहीं हो सकता तो ये कैसे हो गया? विराट बताता है कि वह कारण नहीं जानता। विराट बिस्तर पर पड़ा साई का पर्स देखता है और कमिश्नर के ऑफिस में वैसे ही पर्स को देखना याद करता है।

विराट ने साई से पूछा कि क्या उसने कुछ ऐसा किया है जो उसे नहीं करना चाहिए था और उसने उसका स्थानांतरण रोक दिया है। साईं चिंतित हो जाती है कि विराट कैसे प्रतिक्रिया देगा अगर उसे पता चला कि उसने उसका स्थानांतरण रोक दिया है तो वह झूठ बोलती है कि उसे उसके स्थानांतरण के बारे में कुछ भी नहीं पता है। विराट ने साई से पूछा कि वह पूरे दिन कहां थी? साईं झूठ बोलती है कि वह पुलकित से नोट लेने गई थी और दूसरा पर्स ले गई। साई उत्साहित हो जाती है और विराट से कहती है कि उसने उसके लिए ड्रेस खरीदी है।

विराट ने साईं को बताया कि जब साईं को पता था कि वह पूजा में बैठने वाला ही नहीं था तो साईं ने उसकी ड्रेस पहले से क्यों ली? साईं विराट से कहती है कि उसे ऐसा लगता है कि पुलिस विभाग उसकी बात सुनेगा और विराट का ट्रांसफर रोक देगा? साईं सोचती है कि विराट के ट्रांसफर को रोककर वह इतनी खुश क्यों है, क्या वह वाकई विराट के पास रहना चाहती है।

विराट सोचता है कि क्या साईं को कभी सच्चाई का एहसास होगा। भवानी बताती है कि आज पाखी अपने पति के साथ पहली बार पूजा में बैठेगी। देवयानी पुलकित के साथ घर आती है और सम्राट से मिलकर खुश होती है। सम्राट पुलकित का अभिवादन करता है और अपनी बहन को इतना खुश रखने के लिए उसे धन्यवाद देता है।

विराट पूजा में बैठता है और भवानी खुश है कि लंबे समय के बाद इस घर के सभी बेटे एक साथ हैं। एपिसोड का अंत साईं के कहने से होता है कि वह उसे ऐसे कार्यक्रमों में शामिल न करें क्योंकि उसकी शादी सिर्फ एक सौदा है। अगले एपिसोड़ में चव्हाण निवास की तीनों बहुएं बाल गोपाल को उनके झूले पर रखती हैं और फूल साईं के हाथ पर गिरता है। अश्विनी बताती है कि साईं के पास अब भगवान कृष्ण का आशीर्वाद है। विराट ने शिवानी को साई से कहते हुए सुना कि अगर उसे विराट की परवाह नहीं है तो वह उसका स्थानांतरण क्यों रोकना चाहती है?