कुमकुम भाग्य 15 जुलाई 2020 रिटेन अपडेट:- माया ने अपनी गलती के लिये सबसे माफ़ी मांगी!

कुमकुम भाग्य रिटेन अपडेट, स्पॉइलर, अपकमिंग स्टोरी, लेटेस्ट न्यूज, गॉसिप एंड अपकमिंग एपिसोड

एपिसोड की शुरुआत मे माया कहती है कि मैं एक और अस्वीकृति नहीं झेल सकती, इस बार रणबीर मेरा होगा। प्राची कहती हैं कि प्यार के लिये मजबूर नहीं किया जा सकता, आप रणबीर की समस्याओं का कारण हैं। माया का कहना है कि रणबीर ने आपको बचाने के लिए स्वीकारोक्ति पर हस्ताक्षर किए। प्राची कहती हैं कि आप समझ नहीं पाए हैं कि प्यार का क्या मतलब है। माया प्राची से प्यार का विवरण करने को कहती है।

प्रज्ञा हर किसी से कहती है कि उन्हें दुष्यंत को गिफ्तार करना होगा माया को नहीं अन्यथा वह और अधिक समस्याएं खड़ी करेगा, इसलिए हमें उसे बेनकाब करना होगा। प्रज्ञा से हर कोई सहमत है। मीरा पूछती है कि यह कैसे हो सकता है। प्रज्ञा कहती है कि दुष्यंत खुद अपने अपराध का खुलासा करेगा।

माया कहती है कि मैं जानती हूं कि आप दोनों एक दूसरे से प्यार करते है क्योंकि ये आपकी शक्ल पर झलकता है पर फिर भी मैं इसे आपसे सुनना चाहती हूं। प्राची कहती हैं कि वे सिर्फ दोस्त हैं प्रेमी नहीं। शाहाना प्राची को अपने साथ ले जाती है और दोनों माया को कमरे में बंद कर देते हैं।

Also, Read in English:-

आलिया जेल जाती है और अभि से मिलती है। अभि उसे सांत्वना देता है। आलिया सोचती है कि तुम यहाँ हो मेरे कारण। वह कहता है की वो जल्द ही बाहर आएगा। आलिया कहती है कि वह उसे छुड़वा लेगी।

प्राची पूछती है कि क्या हुआ। बीजी बताते हैं कि कैसे प्रज्ञा दुष्यंत और चौबे का अपराध साबित करना चाहती है। सविता कहती हैं कि उन्होंने हमें बहुत प्रताड़ित किया। प्रज्ञा कहती है कि हमें उन्हें फंसाने के लिए उनके तरीकों का उपयोग करना होगा और हमने उन्हें यहां बुलाया है और वह यहां आएंगे और तनाव में सच्चाई स्वीकार करेंगे

माया लैंडलाइन नंबर पर कॉल करती है। श्रीमती चौबे ने फोन उठाया। दुष्यंत फोन लेता है और उससे पूछता है कि क्या हुआ। माया उसे रणबीर को बचाने के लिए कहती है। दुष्यंत कहते हैं पहले हमें तुम्हें बचाना है, पहले घर आओ। माया कहती है कि रणबीर की जिंदगी खराब हो जाएगी। दुष्यंत कहते हैं कि पहले हमारे परिवार का सम्मान है और फिर रणबीर है, हम आपको नानी के घर भेज देंगे अन्यथा हमारी योजनाएं उजागर हो जाएंगी और आपके पिता का करियर खराब हो जाएगा। माया अपने प्यार को बचाने के लिए उससे भीख मांगती है। दुष्यंत कहते हैं कि एक बार मामला सुलझने के बाद मैं उन्हें बचाऊंगा, पहले आप घर आइए। माया चौंक जाती है।

माया लगातार दरवाजा खटखटाती है। प्रज्ञा उन्हें चेक करने के लिए कहती है। शाहाना ने दरवाजा खोला। माया परिवार के सदस्यों के पास जाती है और उन्हें रणबीर से मिलने के लिए कहती है और परिवार को सूचित करती है दुष्यंत के इरादो के बारे मे और वह माफी के लिए परिवार से भीख माँगती है और उसे पुलिस में ले जाने के लिए कहती है ताकि रणबीर मुक्त हो जाए। परिवार उसे पूरा सच उजागर करने के लिये कहता है माया फिर उन्हें बताती है कि कैसे वे प्राची को फंसाने के बारे में सोचते हैं लेकिन रणबीर हत्या में फंस गया। माया बताती है कि वह रणबीर को जेल में नहीं देख सकती है और उनकी मदद करने के लिए उनसे भीख माँगती है। हर कोई उसे दोषी ठहराता है लेकिन प्रज्ञा सबको उसे एक मौका देने के लिए कहती है। प्रज्ञा कहती है कि पहले हमें पुलिस स्टेशन जाना होगा और आपको अपने बारे में पुलिस को सूचित करना होगा और तब आपके बडे पापा को जेल हो सकती है। माया का कहना है कि उसे उसके अपराध के लिए जेल जाना चाहिए, मैं रणबीर को बचाना चाहती हूं।

प्रज्ञा दुष्यंत को फोन करती है और उसे सूचित करती है कि माया उनके साथ है। दुष्यंत फोन में सब कुछ सुनता है और रणबीर के घर पहुंचता है। दुष्यंत और श्रीमती चौबे विक्रम के घर पहुँचते हैं और सभी से माया के बारे में पूछते हैं। हर कोई कहता है कि उन्हें माया के बारे में कुछ भी पता नहीं है। दुष्यंत कहते हैं मैंने माया की आवाज सुनी, मुझे सच बताओ। श्रीमती चौबे दुष्यंत को खून के निशान दिखाती हैं।