पंड्या स्टोर अपडेट: शिवा की खबर सुन टूटा गौतम, पंड्या परिवार ने रावी से छुपाया सच!

पंड्या स्टोर रिटेन अपडेट, स्पॉइलर, अपकमिंग स्टोरी, लेटेस्ट न्यूज, गॉसिप एंड अपकमिंग एपिसोड

एपिसोड की शुरुआत पांड्या के रावी को देखकर चौंकने से होती है। रावी को दुर्घटना की खबर देखने से रोकने के लिए देव टीवी बंद कर देता है। रावी गौतम से पूछती है कि वे इस समय कहाँ जा रहे हैं, क्या वे शिव को लाने जा रहे हैं। गौतम सहमत होता है। वह कहता है कि शिवा कहीं फंस गए होगा, इसलिए वे उसे लाने जा रहे हैं। गौतम कृष को साथ लेकर चला जाता है। रावी को शक होता है कि देव और धारा उससे कुछ छुपा रहे हैं और उनसे पूछती है कि मामला क्या है। वह पूछती है कि क्या यह शिवा से संबंधित है।

   

धारा इससे इनकार करती है, लेकिन रावी का शक और मजबूत हो जाता है। वह सोचती है कि वे क्या छिपा रहे हैं। देव वापस लौटने तक खेल खेलने का सुझाव देता है। रावी इस तनावपूर्ण स्थिति में खेल खेलने के लिए देव को डांटती है। रावी टीवी चालू करने के लिए रिमोट लेती है। धारा रावी के हाथ से रिमोट ले लेती है जिससे रावी हैरान रह जाती है।

रिपोर्टर इंस्पेक्टर से डेथ काउंट के बारे में पूछता है। वह कहता है कि वे अभी कुछ नहीं बता सकते हैं और कहता है कि उन्हें अपना काम करने दें। वह एक अधिकारी से कहता है कि दुर्घटना के शिकार लोगों की पहचान करने के लिए सभी चीजें इकट्ठा करें और अलग रखें। गौतम और कृष टेम्पो से रास्ते में थे और शिवा की सुरक्षा के लिए प्रार्थना करते हैं। यहां धारा रावी से पूछती है कि क्या वह उन पर भरोसा नहीं करती है, क्या वे उससे झूठ बोलेंगे।

धारा रावी को अपने कमरे में आराम करने के लिए कहती है, जब शिवा वापस आएगा तो वे उसे जगा देंगे। धारा रिमोट को देव पर फेंक देती है। वह जानबूझकर रिमोट गिरा देता है। देव कहता है कि यह क्षतिग्रस्त है कि उन्हें नया लेना होगा। रावी धारा से कहती है कि वह देव को किसी काम को ठीक से ना करने के लिए डांटे। वह उसे ऋषिता के पास जाने के लिए कहती है। रावी मैन्युअल रूप से टीवी चालू करने वाली थी। धारा टीवी के सामने आ जाती है।

गौतम दुर्घटना की खबर याद करते हुए टेंपो चलाता है। उसने नहीं देखा कि वाहन उनके सामने आ रहा है। कृष समय पर गौतम को सचेत करता है और गौतम दुर्घटना से बच जाता है। कृष कहता है कि वह टेंपो चलाएगा। इधर धारा टीवी तोड़ देती है और झूठ बोलती है कि यह गलती से हुआ। ऋषिता और सुमन वहां आते हैं। धारा रावी को गले लगाकर रोती है। वह टीवी तोड़ने के लिए माफी मांगती है। वह सोचती है कि वह शिवा के लिए खुलकर रो नहीं सकती। सुमन धारा से पूछती है कि क्या शिवा आ गया है।

धारा झूठ बोलती है कि उसने शिवा से बात की। उसे कहा कि खराब मौसम के कारण वह कहीं फंस गया है। रावी धारा से पूछती है कि उसने उसे पहले क्यों नहीं बताया, वह शिवा के बारे में चिंतित थी। धारा कहती है कि क्योंकि रावी के सवाल कभी खत्म नहीं होते। वह कहती है कि रावी जाओ और आराम करो। वह वहां से चली जाती है। धारा को उम्मीद थी कि उसका झूठ सच हो जाएगा और शिवा सकुशल घर लौट आएगा। वह भगवान से शिवा की रक्षा के लिए प्रार्थना करती है।


गौतम और कृष दुर्घटनास्थल पर पहुंच जाते हैं। वे शिवा को खोजने के लिए खाई से नीचे जाने का फैसला करते हैं। उन्हें एक ढका हुआ शव दिखाई देता है। वे यह देखने के लिए कपड़ा हटाते हैं कि यह शिवा है या नहीं। वे यह जानकर राहत महसूस करते हैं कि यह शिवा का शरीर नहीं है। एक अधिकारी कहता है कि उन्होंने सीट संख्या के अनुसार बस में यात्रा करने वाले यात्रियों की सूची बनाई और सीट संख्या के अनुसार उनका सामान टेबल पर रखा है। परिजन अपना सामान ले सकते हैं।

गौतम और कृष पैसेंजर की लिस्ट चेक करने को होते हैं। गौतम ऐसा नहीं कर पाता। तो कृष सूची की जाँच करता है और सूची में शिवा का नाम पाकर चौंक जाता है। वह रोता है और गौतम को वही बताता है। गौतम कृष पर विश्वास करने से इंकार कर देता है और खुद ही जाँच करता है। सूची में शिवा का नाम पाकर वह दंग रह गया। वह फूट-फूट कर रोने लगता है।

प्रीकैप: लाश को देखकर कृष शिवा चिल्लाता है। गौतम रोता हुआ खड़ा था। प्रफुला रावी के पास आती है और बस दुर्घटना के बारे में कहती है। वह आगे कहती है कि शिवा को उस बस में यात्रा करनी थी। रावी चौंक कर खड़ी हो जाती है।