शादी मुबारक 2 अप्रैल 2021 रिटेन अपडेट : प्रीति ने उसे गलत तरीके से समझाने के लिए केटी से माफी मांगी!

शादी मुबारक रिटेन अपडेट, स्पॉइलर, अपकमिंग स्टोरी, लेटेस्ट न्यूज, गॉसिप एंड अपकमिंग एपिसोड

एपिसोड की शुरुआत छोटी प्रीति से होती है जो प्रीति / मोही से प्रिंसिपल के फैसले के बारे में पूछती है। प्रीति उसे यह कहते हुए झूठ बोलती है कि प्रिंसिपल उसे नौकरी देने के लिए तैयार हो गई है, जिसपर प्रीति, प्रीती/ मोही को यह विशाल को बताने के लिए कहती है क्योंकि वह उसे किसी और स्कूल में दाखिला लेने के लिए मजबूर कर रहा है। वह यह कहते हुए रोने लगती है कि वह अपनी मां के स्कूल में ही पढ़ना चाहती है। जिसपर प्रीति / मोही उसे शांत करने की कोशिश करती है।

प्रीति ने एक खिलौने वाली बंदूक निकाली और प्रीति के मन को होली मनाने का कहकर भटका दिया । छोटी प्रीति खुश हो जाती है और उसे प्रीति के साथ खेलने में मज़ा आता है। दूसरी तरफ केटी को प्रीति का पता मिलता है और वह उसे ढूंढने आता है। कौशाला उसे प्रीति के बारे में पूछते हुए फोन करती है जिसपर वह उसे सूचित करता है कि वह उसे खोज रहा है। कीर्ति ने कौशाला से केटी के बारे में पूछा, जिसपर वह जवाब देती है कि वह कीर्ति के जीवन का सबसे बड़ा उपहार लाने गया है।

कीर्ति उत्साहित हो जाती है जिसपर कौशाला नौकरों से सबसे अच्छा भोजन बनाने के लिए कहती है। प्रियंका ख़ुश हो जाती है और प्रीति के आने की तैयारी में व्यस्त होती है। प्रीति अपने घर से बाहर आती है और अपनी दोस्त को बुलाती है। वह बताती है कि उसे तत्काल कोई नौकरी चाहिए और उसे विशाल के अल्टीमेटम की चिंता है। वह खुले नाले पर कदम रखने ही वाली थी तभी केटी उसे देखता है और उसे पीछे खींच लेता है। वह उसकी बाहों में गिर जाती है और दोनों एक-दूसरे को देखते हैं। रंग उन पर उड़ते हैं और कुछ प्रीति के माथे पर गिर जाते हैं। केटी उसे घूरता रहता है लेकिन वह उसे कठोरता से धक्का देती है और उसे थप्पड़ मारती है। वह उसके साथ दुर्व्यवहार के लिए उसे डांटती है, जिससे वह चौंक जाता है। वह उस पर चिल्लाती है और भाग जाती है तभी कुछ महिलाएं प्रीति को उसकी गलतफहमी के बारे में बताती हैं। वे उसे बताते हैं कि केटी ने गिरने से बचाया, जिसपर वह अपराधबोध महसूस करती है।

प्रीति केटी की ओर आती है और उसे पेय देती है। वह अपनी गलती के लिए माफी मांगती है जिसपर वह मुस्कुराता है और अपनी पेय साझा करता है। वह उसके साथ घुलमिल जाती है और वे दोनों बेंच पर बैठ जाते हैं। केटी उसके पास बैठता है, जिसपर वह उसे घूरती है और उसके साथ मजाक करती है और अपनी सीमा में रहने के लिए कहती है। वह बिना यह जाने केटी को कोसने लगती है कि वह उसके साथ ही बैठी है। वह इस बात पर अड़ी रहती है कि वह कितना कठोर है क्योंकि वह उसकी सभी समस्याओं के लिए जिम्मेदार है। वह कहती है कि उसकी वजह से उसकी बेटी को स्कूल में दाखिला नहीं मिल रहा है। प्रीति की बेटी के बारे में जानने के बाद केटी हैरान हो जाता है और इसके बारे में पूछती है, तभी उस समय छोटी प्रीति प्रीति को मां संबोधित करती है।

प्रीति छोटी प्रीति के साथ जाती है जिसपर केटी भावुक हो जाता है। केटी प्रीति का अनुसरण करता है और उसे विशाल और उसके परिवार को खुशी से खाना परोसते देख, टूट जाता है। वह गलतफहमी में है कि उसकी शादी विशाल से हो गई है और उसका एक परिवार है। वह भावुक होकर वहाँ से जाता है और प्रीति का पर्स देखता है। वह इसे उठाता है और प्रीति और छोटी प्रीति के चित्र को इसके भीतर देखता है। वह रोता है और चला जाता है। कौशाला केटी और प्रीति के लिए बेचैन हो जाती है जिसपर शिवराज उसे शांत होने के लिए कहता है। केटी वहाँ आता है जिसपर उसने उसपर सवालों की बौछार कर दी। वह प्रीति के बारे में पूछती है, जिसपर वह कहता है कि उसने उसे हमेशा के लिए खो दिया।

उसके परिवार के सदस्य भ्रमित हो जाते हैं जिसपर वह जवाब देता है कि उसने शादी कर ली है। केटी अपने कमरे के अंदर चला जाता है, जबकि हर कोई इसके बारे में जानकर हैरान हो जाता है। शिखा की माँ छोटी प्रीति को फ्रॉक पहनाने की कोशिश करती है जिसपर वह इसे पहनने से इनकार करती है और घर में चारों ओर भागती है। शिखा की माँ थक कर बैठ जाती हैं। प्रीति वहाँ आती है और स्थिति के बारे में पूछती है, जिसपर छोटी प्रीति उसे बताती है कि वह इस तरह की रंगहीन फ्रॉक नहीं पहनना चाहती है। शिखा की माँ दुखी हो जाती हैं और चली जाती हैं जिसपर प्रीति किसी तरह छोटी प्रीती को फ्रॉक पहनने के लिए राजी कर लेती है।

दूसरी तरफ केटी कीर्ति को नींद में देखता है और उसके सिर को थपथपाता है। वह प्रीति को याद करता है और बड़बड़ाता है कि वह केवल उसके वापस आने की उम्मीद के साथ जी रहा था। वह प्रीति की बेटी के प्रवेश के बारे में याद करता है और बताता है कि उसके बिना सब कुछ अधूरा है। वह खुद को प्रीति की मदद करने के लिए निर्धारित करता है, भले ही वह उसे पाने में सक्षम न हो।

प्रिकैप: – प्रीति अखबार में पढ़ती है जिस दौरान केटी उसे निहारता रहता है। बाद में कौशाला ने केटी से उसके फैसले के बारे में पूछा, जिसपर वह कहता है कि वह प्रीति को मजबूर नहीं कर सकता, इसलिए वह परोक्ष रूप से सब कुछ करेगा।