ये हैं चाहतें अपडेट: शॉकिंग! क्या फिर बदल जाएंगे प्रिशा और रुद्राक्ष के रिश्ते के मायने, जानिए क्या होगा शो का अगला ट्रैक!

ये हैं चाहतें रिटेन अपडेट, स्पॉइलर, अपकमिंग स्टोरी, लेटेस्ट न्यूज, गॉसिप एंड अपकमिंग एपिसोड

एपिसोड की शुरुआत विद्युत से होती है, जो पुलिस इंस्पेक्टर को बताता है कि उसने रुद्राक्ष को नहीं मारा। पुलिस इंस्पेक्टर उसे बताता है कि जांच पूरी होने तक उसे जेल में ही रहना होगा। दिग्विजय को विद्युत की गिरफ्तारी के बारे में पता चलता है। वह कहता है कि रुद्राक्ष की हत्या में किसी को अरमान पर शक नहीं है। वह विद्युत की गिरफ्तारी की सूचना अरमान को देता है। अरमान उसे बताता है कि यह एक अच्छी खबर है। दिग्विजय ने उसे अपनी योजना के अगले चरण पर अमल करने के लिए कहा।

   

पीहू दिग्विजय को फोन करती है और कहती है कि उसे उसकी मदद की जरूरत है। दिग्विजय उससे पूछता है कि क्या हुआ। वह उसे बताती है कि प्रीशा विद्युत पर रुद्राक्ष की हत्या का आरोप लगा रही है। वह कहती है कि उसे विद्युत पसंद है और वह जानती है कि विद्युत ने रुद्राक्ष को नहीं मारा है। अरमान दिग्विजय को पीहू की मदद करने के लिए राजी होने के लिए कहता है। दिग्विजय पीहू से कहता है कि वह उसकी मदद करेगा और कॉल काट देता है।

अरमान उससे कहता है कि अगर उन्होंने पीहू की मदद की तो वे पीहू का भरोसा जीत सकते हैं। वह कहता है कि इससे उन्हें पीहू और प्रीशा के बीच दरार पैदा करने में मदद मिलेगी। वह कहता है कि अगर मामले में कुछ भी गलत हुआ तो वे दोष विद्युत पर डाल सकते हैं। बाद में, पीहू दिग्विजय की मदद से विद्युत से जेल में मिलती है। विद्युत पीहू से कहता है कि उसने कुछ नहीं किया। पीहू उससे कहती है कि वह जानती है कि वह निर्दोष है। दिग्विजय कहता है कि उसे पीहू पर भरोसा है इसलिए वह विद्युत की मदद करेगा। वह कहता है कि प्रीशा विद्युत को हमेशा के लिए सलाखों के पीछे डालने की पूरी कोशिश करेगी। वह कहता है कि अगर विद्युत निर्दोष है तो उसे कुछ नहीं होगा। वह उसे वकील को सब कुछ बताने के लिए कहता है। विद्युत वकील को सब कुछ बताता है।

दूसरी ओर, प्रीशा रुद्राक्ष के साथ साझा किए गए पलों को याद करते हुए रोती है। वह रुद्राक्ष की कल्पना करती है। वह उससे कहता है कि वह हमेशा उसके दिल में रहेगा। वह उसे उसको नहीं छोड़ने के लिए कहती है क्योंकि उसे सांस लेने की जरूरत है। वह गायब हो जाता है। शारदा वहाँ आ जाती है। प्रीशा उससे कहती है कि वह रुद्राक्ष को उससे अलग करने के लिए विद्युत को नहीं छोड़ेगी। वकील विद्युत से कहता है कि पीहू का बयान विद्युत को नहीं बचा सकता। वह कहता है कि उन्हें किसी और सबूत की जरूरत है।

विद्युत कहता है कि रुद्राक्ष की कार स्टार्ट नहीं हुई और वे इसे साबित कर सकते हैं। वकील कहता है कि वह इसकी जांच करेंगे और कल कोर्ट में सुनवाई होगी और वहां से निकल गया। दिग्विजय उसका पीछा करता है। पीहू विद्युत से ना डरने के लिए कहती है क्योंकि वह उसके साथ है। वह कहती है कि दिग्विजय का वकील विद्युत की बेगुनाही साबित करेगा। वह उसे उम्मीद नहीं खोने के लिए कहती है। अगले दिन, शारदा प्रीशा से कहती है कि उसे नहीं लगता कि विद्युत ने रुद्राक्ष को मारा है। प्रीशा उससे पूछती है कि वह विद्युत का पक्ष क्यों ले रही है।

पीहू और दिग्विजय कोर्ट में आते हैं। प्रीशा के वकील ने विद्युत पर आरोप लगाया। वह जज को बताता है कि विद्युत ने रुद्राक्ष को मारने के लिए जानबूझकर उसकी कार का इस्तेमाल किया। प्रीशा का वकील कहता है कि उसे यह भी पता चला कि रुद्राक्ष कार अच्छी हालत में है। पुलिस इंस्पेक्टर कहता है कि मैकेनिक के बयान के मुताबिक विद्युत रुद्राक्ष की कार को मैकेनिक की दुकान पर ले गया और रुद्राक्ष की कार बिल्कुल ठीक थी। विद्युत के वकील ने जज से सबूत जुटाने के लिए समय देने को कहा। जज ने दो दिन का समय दिया। विद्युत पीहू से कहता है कि कोई उसे फंसा रहा है।

प्रीकैप – प्रीशा ने विद्युत को थप्पड़ मारा। अरमान दिग्विजय से विद्युत के खिलाफ कुछ इस्तेमाल करने के लिए कहता है। पुलिस को विद्युत के खिलाफ सबूत मिलते हैं। जज कहता है कि यह साबित हो गया है कि विद्युत ने रुद्राक्ष को मारा है।