ये हैं चाहतें अपडेट: प्रिशा को इस एक गलतफहमी से फिर बदल जाएंगे प्रिशा और रुद्राक्ष के रिश्ते के मायने, जानिए क्या मोड़ लेगी शो की कहानी!

ये हैं चाहतें रिटेन अपडेट, स्पॉइलर, अपकमिंग स्टोरी, लेटेस्ट न्यूज, गॉसिप एंड अपकमिंग एपिसोड

एपिसोड की शुरुआत में शारदा प्रीशा से कहती है कि बच्चे भी दुखी हैं और उन्होंने अपने पिता को खो दिया है। वह कहती है कि इस घटना ने बच्चों के जीवन को बदल दिया है, फिर भी वे प्रीशा के बारे में चिंतित हैं। वह उससे पूछती है कि वह अपने बच्चों के साथ ऐसा कैसे कर सकती है। वह उसे याद दिलाती है कि उसने उसके बच्चों के लिए क्या किया है। वह उससे पूछती है कि वह कैसे भूल गई कि वह मां है। वह उसे बताती है कि उसके बच्चों को उसकी जरूरत है। वह कहती है कि प्रीशा को अब से बच्चों को मां-बाप दोनों का प्यार देना है। वह उसे बताती है कि प्रीशा को उनके लिए जीना होगा।

   

प्रीशा कहती है कि वह जानती है कि उसे अपने बच्चों के लिए जीना होगा लेकिन उसे कुछ समझ नहीं आ रहा है। शारदा उसे दोबारा ऐसा कुछ नहीं करने का वादा करने के लिए कहती है। प्रीशा उससे वादा करती है। वह उसे गले लगाकर रोती है। दिग्विजय ने अरमान से कहा कि विद्युत ने जेल से भागने से इनकार कर दिया। अरमान उसे पीहू का इस्तेमाल करने के लिए कहता है। वह कहता है कि विद्युत पीहू की बात सुनेगा। दिग्विजय उससे कहता है कि पीहू अवैध बात के लिए राजी नहीं होगी। अरमान उसे वॉयस चेंजर ऐप इस्तेमाल करने के लिए कहता है। वह उसे विद्युत को यह विश्वास दिलाने के लिए कहता है कि पीहू चाहती है कि वह जेल से भाग जाए। अगले दिन दिग्विजय वॉयस चेंजर ऐप के जरिए विद्युत से बात करता है। वह उसे जेल से भागने के लिए मना लेता है।

बाद में, जेल अधिकारी विद्युत को सूचित करता है कि वे उसे मुख्य जेल में स्थानांतरित कर रहे हैं। वह बिना किसी की जानकारी के उसे हथकड़ी की चाबी देता है। कुछ देर बाद पुलिस वैन बीच सड़क पर रुक जाती है। जेल अधिकारी विद्युत को संकेत करता है। विद्युत अपनी हथकड़ी खोलता है और वहां से भाग जाता है। अधिकारी उसका पीछा करते हैं। भागते समय विद्युत ट्रेन की चपेट में आ गया। पुलिस इंस्पेक्टर प्रीशा को बताता है कि जेल से भागते समय विद्युत की मौत हो गई। राज उसकी बात सुनकर चौंक जाता है। शारदा रोती है। वह पुलिस इंस्पेक्टर से विद्युत के शव के बारे में पूछती है। पुलिस इंस्पेक्टर उसे बताता है कि विद्युत का शव पूरी तरह से क्षतिग्रस्त हो गया था इसलिए अंतिम संस्कार करने के लिए कुछ भी नहीं बचा और वहां से निकल गया।

प्रीशा कहती है कि उसे बुरा लग रहा है लेकिन वे क्या करें। पीहू उसे बताती है कि प्रीशा को कुछ भी करने का अधिकार नहीं है। वह विद्युत की मौत के लिए उसे दोषी ठहराती है। प्रीशा उसे बताती है कि वह भी इंसान है। वह उससे पूछती है कि विद्युत जेल से क्यों भाग गया। पीहू कहती है कि विद्युत निर्दोष था इसलिए वह भाग गया। प्रीशा उसे बताती है कि जेल से अपराधी ही भागते हैं। पीहू उससे पूछती है कि प्रीशा छह साल पहले जेल से क्यों भागी थी। वह कहती है कि विद्युत को जज करने का हक किसी को नहीं है। वह उसे याद दिलाती है कि उसने उसके लिए क्या किया था। उसने उससे सारे संबंध तोड़ लिए। वह उससे कहती है कि वह उसे विद्युत की मौत की सजा देगी और वहां से चली गई।

3 महीने बाद

रूही ने अपना बर्थडे खुराना हाउस में मनाया। सारांश रूही से एक विश करने के लिए कहता है। रूही कहती है कि वह अभी अकेली है और उसे अपने मां और पिता चाहिए। प्रीशा उनसे छुपकर सब देखती है। रूही की दोस्त रूही से प्रीशा के बारे में पूछती है। रूही उसे बताती है कि उसकी मां घर में नहीं है। दौड़ते समय वह नीचे गिर जाती है। प्रीशा उसकी मदद करने वाली होती है लेकिन पीहू उसे रोक देती है। रूही की सहेली रूही से पूछती है कि रूही ने झूठ क्यों बोला। रूही उसे बताती है कि प्रीशा उसकी माँ नहीं है। वह कहती है कि रुद्राक्ष के स्टार बनने पर ही उसकी मां चली गई।
प्रीशा ऊपर जाती है।

सारांश उसका पीछा करता है। वह उससे पूछता है कि वह खुद को इस तरह क्यों चोट पहुँचा रही है। वह उसे याद दिलाता है कि रूही अब उससे नफरत करती है। वह उससे पूछता है कि वह रूही के लिए सब कुछ क्यों कर रही है जबकि उसे पता है कि उसे रूही से केवल नफरत ही मिलेगी। वह उससे कहती है कि वह चाहती है कि रूही उसे समझे। शारदा उससे कहती है कि वह उसे भी माफ नहीं करेगी। वह कहती है कि उसने कभी नहीं सोचा था कि प्रीशा फिर से शादी कर लेगी।

प्रीकैप – शारदा प्रीशा से कहती है कि प्रीशा को उसके गलत कामों की सजा मिल रही है। पीहू प्रीशा से कहती है कि उसे उसका सच्चा प्यार मिल गया है इसलिए वह कल उससे मिलने आ रही है। प्रीशा उससे उसके होने वाले पति के बारे में पूछती है।