ये रिश्ता क्या कहलाता है अपडेट: अभिमन्यु के इस कदम से अक्षरा शॉक्ड!

ये रिश्ता क्या कहलाता है रिटेन अपडेट, स्पॉइलर, अपकमिंग स्टोरी, लेटेस्ट न्यूज, गॉसिप एंड अपकमिंग एपिसोड

एपिसोड की शुरुआत में कायरव घर लौटता है। आरोही कायरव और वंश के लिए कचौरी लाती है। यह देखकर कायरव को अक्षरा की याद आ जाती है। उसी समय अक्षरा घर वापस आ जाती है। उसे देखकर हर कोई हैरान हो जाता है। आरोही उससे पूछती है कि वह घर वापस कैसे आई। क्या वह कुछ भूल गई थी? अक्षरा हां में जवाब देती हैं। वह आगे कहती है कि उसे उनकी मां ने सिखाया था कि मुसीबतों का सामना करना चाहिए उनसे भागना नहीं चाहिए। इसलिए वह घर लौट आई है।

कायरव भी सबको सच बताता है कि उसने अक्षरा को पुणे जाने के लिए कहा था क्योंकि वह नहीं चाहता था कि अक्षरा दुखी हो। अक्षरा बताती है कि उसने भी अभिमन्यु और उसके परिवार से नाता तोड़ लिया है। यह सुनकर मनीष चौंक गया। वह अक्षरा और कायरव को उनके गलत फैसलों के लिए डांटता है। अक्षरा मनीष को समझाने की कोशिश करती है कि इसमें कायरव की गलती नहीं है। इसलिए उसे डांटें नहीं।

हालांकि मनीष और घरवाले इतने दुखी थे कि वे उसकी बात नहीं समझ पाते और वहां से चले जाते हैं। वहाँ अभिमन्यु महिमा के पास आता है। वह उससे पूछता है कि जब उसने उसे सब सच बता दिया था तो इतना बड़ा भ्रम क्यों हुआ। यह सुनकर महिमा चौंक जाती है। वह पूछती है कि वह उससे यह सवाल क्यों पूछ रहा है।

अभिमन्यु जवाब देता है कि वह केवल अपना भ्रम दूर करना चाहता था। यह कहकर वह वहां से चला जाता है। इधर आरोही अक्षरा से नाराज है क्योंकि एक बार फिर वह घरवालों की नजर में बड़ी हो गई है और वह बुरी है। अक्षरा उसे समझाती है कि उसने अपने परिवार के लिए क्या किया। आरोही कहती है कि अगर वह उसकी जगह होती तो ऐसा ही करती। नील मंजरी को बताता है कि अक्षरा अभिमन्यु के जन्मदिन की तैयारी करने के लिए तैयार हो गई है।

मंजरी खुश हो जाती है। जबकि अभिमन्यु अक्षरा को याद करता है और हाउसकीपर पर गुस्से से चिल्लाता है। तब उसे पता चलता है कि उसने गलत किया है इसलिए वह नौकर से माफी मांगता है। बाद में महिमा देखती है कि मंजरी अक्षरा से बात कर रही है। वह सोचती है कि आज अभिमन्यु ने प्रश्न किया, तो उसे कुछ करना होगा। वह मंजरी पर चिल्लाने लगती है कि वह इतना सब होने के बाद भी अक्षरा से बात कर रही है ताकि अभिमन्यु का ध्यान इस बात पर जाए और घरवालों को पता न चले कि उसने कंफ्यूजन पैदा किया है।

अभिमन्यु भी वहाँ आता है। मंजरी महिमा और अभिमन्यु को यह बताने की कोशिश करती है कि वह यह सब अभिमन्यु के जन्मदिन के लिए कर रही है। लेकिन अभिमन्यु उसकी बात सुने बिना वहां से चला जाता है। आगे अक्षरा अभिमन्यु के जन्मदिन की तैयारी कर रही थी। वह कल्पना करती है कि अभिमन्यु उसके साथ है। उसी समय आरोही वहां आ जाती है। यह देखकर अक्षरा डर जाती है। आरोही उससे पूछती है कि वह घबराई हुई क्यों है।

अक्षरा जवाब नहीं दे पा रही थी। फिर आरोही को बिरला अस्पताल से इंटर्नशिप का ऑफर मिलता है। यह देखकर वह खुश हो जाती है और गोइंका को यह खबर देती है। यह सुनकर मनीष खुश नहीं हुए। उसने आरोही को बिरला अस्पताल में भर्ती होने से मना किया। अक्षरा मनीष से कहती है कि आरोही के लिए यह मौका बहुत अच्छा है। इसलिए उन्हें आरोही को वहां जाने से नहीं रोकना चाहिए। मनीष उसकी बात को समझता है और आरोही को बिरला अस्पताल में भर्ती होने की अनुमति देता है। आगे अक्षरा नील को फोन करती है और पूछती है कि क्या बर्थडे की तैयारियां शुरू हो गई हैं। वह हाँ कहता है। तभी वहां अभिमन्यु आता है।

अक्षरा उसकी आवाज सुनकर खुश हो जाती है। वह एक बार फिर अभिमन्यु की आवाज सुनना चाहती थी। अभिमन्यु नील को उसकी कार की सर्विसिंग के लिए धन्यवाद देता है और कहता है कि वह उससे प्यार करता है। अक्षरा खुश हो जाती है और कहती है कि वह भी उससे प्यार करती है।

प्रीकैप: आरोही अभिमन्यु की तस्वीर देखती है और सोचती है कि इस बार उसे अभिमन्यु मिलेगा। अक्षरा अभिमन्यु के घर जाती है और अभिमन्यु को जन्मदिन की शुभकामनाएं देती है।