ये रिश्ता क्या कहलाता है अपडेट: अभिमन्यु के इस चोंकाने वाले फैसले से अक्षरा के खिसकी पैरों तले जमीन!

ये रिश्ता क्या कहलाता है रिटेन अपडेट, स्पॉइलर, अपकमिंग स्टोरी, लेटेस्ट न्यूज, गॉसिप एंड अपकमिंग एपिसोड

आज के एपिसोड में अभीर भगवान शिव को पत्र लिखता है। वह कहता है कि एक आखिरी सवाल वह जानना चाहता है कि उसके असली पिता अक्षरा के साथ क्यों नहीं हैं। अभीर जानना चाहता था कि अक्षरा और उसके असली पिता एक साथ क्यों नहीं हैं। अभिमन्यु ने अभिनव को अक्षरा की देखभाल करते हुए देखा। वह अभीर को समझाता है कि अक्षरा गलत नहीं है क्योंकि वह अच्छी है। वह कहता है कि शायद उसके असली पिता की गलती हो सकती है। अभिमन्यु अभीर से कहता है कि जो भी कारण हो, उसे कभी अक्षरा को दोष नहीं देना चाहिए। वह कहता है कि अभीर दुनिया का सबसे अच्छा बच्चा है। अभिमन्यु ने अभीर को गले लगाया।

   

अभिनव ने अभीर को पुकारा। वह अभीर से कहता है कि अगर वह अभिमन्यु से बात कर चुका है तो वह उसे स्कूल छोड़ देगा। अभीर अभिमन्यु का हाथ छोड़कर अभिनव के साथ चला जाता है। अभिनव अभीर से अच्छे से पढ़ाई करने के लिए कहता है। वह कहता है कि डॉक्टर ने उसे 15 मिनट तक फुटबॉल खेलने की इजाजत दी थी। अभिनव अभीर से कहता है कि नीलिमा उसे ले जाएगी क्योंकि उसे अक्षरा को उसकी परीक्षा के लिए ले जाना है।

Also, Read Upcoming Story:

अभीर अभिनव से पूछता है कि वह उससे प्यार क्यों करता है। अभिनव अभीर से कहता है कि क्योंकि वह उसका बेटा है। अभीर पूछता है कि अगर वह उसका बेटा नहीं होता तो भी क्या वह उससे उसी तरह प्यार करता। अभिनव स्तब्ध होकर बैठ गया। वह अभीर को स्कूल जाने के लिए कहता है। अभिनव हैरान होता है कि अभीर ने ऐसा सवाल क्यों पूछा। उसे संदेह होता है कि क्या अभिमन्यु ने अभीर को कुछ बताया है। अभिनव चिंता करता है।

अक्षरा ईश्वर से परीक्षा में पास करने की प्रार्थना करती है। वह कबूल करती है कि वह अभीर, अभिनव और अपने परिवार के लिए एक अच्छी वकील बनना चाहती है। अभिमन्यु अक्षरा को उसकी परीक्षा के लिए प्रोत्साहित करता है। वह कहता है कि वह अपने जीवन में कभी असफल नहीं हुई और वह कानून की परीक्षा भी पास करेगी। अक्षरा को पता चला कि भूस्खलन के कारण अभिनव ट्रैफिक में फंस गया है। वह परीक्षा केंद्र जाने के लिए बस में चढ़ने का फैसला करती है।

अक्षरा अभिमन्यु से कहती है, वह बस में चढ़ने जा रही है। वह अभिमन्यु से नीलिमा को चाबी देने के लिए कहती है अगर वह बाहर जाना चाहे। अक्षरा परीक्षा केंद्र की ओर दौड़ती है। कायरव ने मनीष के सामने मुस्कान के लिए अपने प्यार का इजहार किया। वह कहता है कि पहले वह स्वीकार नहीं करना चाहता था कि वह फिर से प्यार में पड़ सकता है। कायरव कहता है कि अब वह मुस्कान से दूर नहीं रह सकता। मनीष कहता है कि अगर मुस्कान उसके प्यार पर विश्वास करेगी तो वह अभिनव और नीलिमा को मना लेगा।

अक्षरा को अपनी बस की यात्रा याद आती है। अभिमन्यु अक्षरा की मदद के लिए एक टैक्सी लाता है। वह अक्षरा को कार में बैठने के लिए मना लेता है। अक्षरा को अपना चैप्टर याद नहीं रहता है। अभिमन्यु अक्षरा को शांत करता और चीटिंग करने के लिए कहता है अगर उसे कुछ याद नहीं है। अक्षरा सोचती है कि उसने कार में बैठकर गलती कर दी। वह सोचती है कि सुबह से सब कुछ गलत हो रहा है। अभिमन्यु ने अक्षरा के साथ अपने परीक्षा के अनुभव को साझा किया। दूसरी ओर, सुरेखा और सुहासिनी ने कायरव और मुस्कान के रिश्ते को स्वीकार करने से इंकार कर दिया।

अक्षरा अपनी परीक्षा की तैयारी करती है। रूही अभिमन्यु से अभीर को उसके असली पिता के बारे में पता लगाने में मदद करने के लिए कहती है। अक्षरा अभिमन्यु पर सच्चाई उजागर करने का आरोप लगाती है। अभिमन्यु अक्षरा को बताता है कि अभीर ने उनकी वजह से सच्चाई जानी है। अक्षरा परीक्षा देने के बजाय अभीर के पास जाने का फैसला करती है। अभिमन्यु अक्षरा को उसकी परीक्षा न छोड़ने के लिए प्रोत्साहित करता है। अक्षरा ने परीक्षा केंद्र जाने के लिए अभिमन्यु की मदद लेने से इंकार कर दिया। [एपिसोड समाप्त]

प्रीकैप: अभिनव को अभीर का पत्र मिलता है। अभीर अक्षरा से उसके असली पिता के बारे में पूछता है।