ये रिश्ता क्या कहलाता है 15 जुलाई 2023 अपडेट: अक्षरा ने लिया चोंकाने वाला फैसला, अभिमन्यु ने अभीर के साथ बिताया क्वालिटी टाइम!

ये रिश्ता क्या कहलाता है रिटेन अपडेट, स्पॉइलर, अपकमिंग स्टोरी, लेटेस्ट न्यूज, गॉसिप एंड अपकमिंग एपिसोड

आज के एपिसोड में, मंजरी अक्षरा से पूछती है कि अदालत द्वारा उसे केवल सप्ताहांत में मिलने की अनुमति देने के बावजूद वह अभीर से मिलने क्यों आती रहती है। रूही मंजरी और अक्षरा को देखती है। अक्षरा कहती है कि वह अभीर से मिलने आई थी लेकिन मंजरी अदालत के आदेश को लेकर उसे ब्लैकमेल कर रही है। आरोही अक्षरा से कहती है कि वह जानती है कि इससे कुछ नहीं बदलेगा फिर वह ऐसा क्यों करने की कोशिश कर रही है। अक्षरा जवाब देती है और कहती है कि वह केवल अभीर को उसके पुराने जूते देने आई थी। महिमा अक्षरा से पूछती है कि क्या उसका मतलब यह है कि वे अभीर को जूता नहीं दे सकते। अक्षरा कहती है कि, अभीर को नया जूता काटता है इसलिए वह उसके पुराने जूते लाई। मंजरी अक्षरा से कहती है कि अगर वह अभीर से मिलने आती रहेगी तो वह कभी भी एडजस्ट नहीं कर पाएगा। रूही कमरे के अंदर भागती है।

   

सुरेखा लापरवाही बरतने के लिए मुस्कान पर चिल्लाती है। मनीष सुरेखा से मामला खत्म करने के लिए कहता है। सुरेखा कहती है कि अगर अक्षरा रसोई में होती तो भी सावधान रहना मुस्कान की ज़िम्मेदारी थी, और कहती है कि अक्षरा अपने होश में नहीं है। सुहासिनी सुरेखा का समर्थन करती है और मुस्कान को दोषी ठहराती है। अभिनव कहता है कि केवल अक्षरा ही मुस्कान का पक्ष ले सकती है क्योंकि वह ऐसा नहीं कर सकता। वह अक्षरा को गायब पाता है।

आरोही जूते का डिब्बा लेती है और अक्षरा को आश्वासन देती है कि वह अभीर की देखभाल करेगी। अक्षरा ने आरोही को धन्यवाद दिया। रूही अभीर को बताती है कि अक्षरा उसे जूते देने आई थी लेकिन मंजरी उसे डांट रही है। अभीर अक्षरा से मिलने के लिए दौड़ता है। अक्षरा अभीर की झलक तलाशती है। वह बाहर चली जाती है। अभीर और रूही अक्षरा से मिलने के लिए दौड़ते हैं। अक्षरा आभीर से मिले बिना ही चली गई। अभीर रोता हुआ खड़ा था।

मुस्कान ने नीलिमा को अपनी गलती के बारे में बताया। वह सोचती है कि वह परिवार के लिए उपयुक्त नहीं है। कायरव मुस्कान से कहता है कि वह मिसफिट नहीं है बल्कि उसके लिए परफेक्ट है। मुस्कान और कायरव एक दूसरे को गले लगाते हैं। अक्षरा बाहर निकलती है और कसौली में अभीर और अभिनव के साथ बिताए पल को याद करती है।

अक्षरा अभिमन्यु की कार से टकराती है। अभिमन्यु अक्षरा से पूछता है कि वह तनावग्रस्त क्यों है। अक्षरा कहती है कि हर मां को अपने बच्चे की सुरक्षा का अधिकार नहीं मिलता है।

अभिमन्यु अक्षरा को गलत समझता है और पूछता है कि क्या उसने नील को खोने के लिए मंजरी से माफी मांगी है। अक्षरा अभिमन्यु से कहती है कि वह अभीर को उनसे अलग न करे। अभिमन्यु अक्षरा से कहता है कि वह कोर्ट नहीं गया था। अक्षरा अभिमन्यु से कहती है कि उसे डर है कि कहीं अभीर उसके जैसा न बन जाए। अभिमन्यु अक्षरा से कहता है कि अभीर पहले से ही उसके जैसा है और उनमें समानताएं हैं।

अभीर को अक्षरा को डांटने के लिए मंजरी पर गुस्सा आता है। अभिमन्यु अभीर से ठीक से व्यवहार करने के लिए कहता है। अभीर कहता है कि किसी को भी उसकी मां को डांटने का अधिकार नहीं है। अभिमन्यु मंजरी की ओर से अभीर से माफी मांगता है। वह अभीर को स्कूल भेजने के लिए और भी उत्साहित हो जाता है।

सुरेखा फिर से लापरवाही बरतने के लिए मुस्कान पर गुस्सा हो जाती है। अक्षरा मुस्कान का पक्ष लेती है और कहती है कि यह उसकी गलती थी। गोयनका ने मुस्कान से माफ़ी मांगी। मुस्कान सुहासिनी से माफी न मांगने के लिए कहती है। कायरव ने अक्षरा को धन्यवाद दिया। अक्षरा को डांटने पर अभिमन्यु मंजरी से भिड़ जाता है। अभीर मंजरी को नजरअंदाज करता है। अभिमन्यु और रूही अभीर को खुश करने की कोशिश करते हैं। [एपिसोड समाप्त]

प्रीकैप: अक्षरा ने कानून की परीक्षा पास की और वकील बन गई। वह भगवान से सवाल करती है। अभीर अक्षरा के लिए खुश हो जाता है। अभिमन्यु अभीर को गोयनका हाउस ले जाता है।